Chaitra Navratri 2020 : बृजेश शुक्ला, जबलपुर। पुरानी कहावत है जहां चाह वहां राह। यानी ऐसा कोई काम नहीं है जिसे किया नहीं जा सकता। नवरात्रि के पूर्व कई परिवारों को यह चिंता हो गई कि नौ दिन घर पर दुर्गा सप्तशती का पाठ कैसे होगा जो पंडित जी कराते हैं। इस समस्या से निपटने के लिए जबलपुर के कुछ पंडितों ने दुर्गा सप्तशती पाठ का ऑनलाइन हल निकाल लिया। अब वे प्रतिदिन यजमान के नंबर पर ऑनलाइन पाठ करते हैं।

ऐसे लिया निर्णय

तमरहाई क्षेत्र निवासी पंडित सौरभ दुबे ने बताया कि कई यजमान के यहां हर नवरात्रि पर दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हैं। इस बार भी लोगों के फोन आने लगे कि घर में पाठ करना है। लेकिन वर्तमान हालातों के चलते यह मुमकिन नहीं था। सभी को मना कर दिया लेकिन सभी यह कहने लगे कि जैसे भी हो कोई रास्ता निकालो। तब यह निर्णय लिया गया कि वीडियो कॉल से पाठ किया जाएगा। इसी तरह गढ़ा निवासी पंडित प्रवीण मोहन शर्मा द्वारा वीडियो कॉल से पाठ किया जा रहा है। सौरभ दुबे 6 यजमानों का और प्रवीण मोहन शर्मा 4 यजमानों का पाठ कर रहे हैं।

पूजन में क्या करते हैं

सबसे पहले फेस टाइम या व्हॉट्सएप से वीडियोकाल करके यजमान को संकल्प दिलाया जाता है। इसके बाद यजमान वीडियोकाल से पूजन देखता है। रामनवमी के दिन हवन में भी यही प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

लोगों ने अपील को स्वीकारा

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस का सबसे पहला पॉजिटिव मरीज जबलपुर में मिला। ऐसे में प्रशासन ने लॉकडाउन का निर्णय लिया और फिर कर्फ्यू लगा दिया गया। भक्तों के लिए सभी मंदिरों सहित उन स्थानों को बंद कर दिया गया जहां लोग इकट्ठे होते हैं। नवरात्रि पर्व नजदीक होने के कारण धर्मगुरुओं ने सभी से मंदिर न जाने की अपील की। लेकिन नवरात्रि पर्व के पहले ही कर्फ्यू लग जाने से लोग घरों में कैद हो गए। ऐसे में मां दुर्गा पर आस्था रखने वाले घरों पर ही पूजन-अर्चन कर रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना