जबलपुर, नईदुनिया रिपोर्टर। Chhath Puja 2020। अस्ताचल सूर्य को अर्घ्य देने के बाद शनिवार सुबह सूर्योदय की पहली किरण के साथ सूर्य को अर्घ्य देकर मंगलकामना की जा रही है। शहर के नर्मदा तटों, तालाबों में सुबह से व्रतधारी महिलाएं पहुंचकर छठ मैया की आराधना के चौथे दिन सूर्य को अर्घ्य देकर अपना व्रत पूरा कर रही हैं। तड़के से ही पटाखों की आवाज से सारा माहौल गूंज रहा है। गौरतलब है कि महापर्व छठ नहाए-खाए से शुरू होकर खरना, अस्ताचल सूर्य को अर्घ्य देने के बाद आज उदयगामी सूर्य को अर्घ्य देने के साथ समाप्त हो रहा है। शहर के 18 स्थानों पर उत्तरप्रदेश, बिहार के रहवासियों ने छठ पूजन का उत्सव मनाया।

नर्मदा तटों से लेकर तालाबों पर भी कुछ व्रतधारी महिलाएं व परिवार रात भर रुके रहे। कंचन सिंह ने बताया कि उनका घर दूर है और वे ग्वारीघाट आई हैं पूजा करने। इसलिए सुबह सूर्योदय के समय घर से आना संभव नहीं हो पाता। इसलिए वे रात भर ग्वारीघाट में ही रुक गए। प्रियंका मिश्रा बताती हैं कि वे पिछले पांच सालों से ग्वारीघाट पर छठ पूजन करने आती हैं। काफी लोग अर्घ्य देकर घर चले जाते हैं लेकिन बहुत सारे लोग यहां रात भर रुकते भी हैं। अपने-अपने घरों से जरूरत के सामान के साथ ढोलक-मंजीरे लाते हैं। रात में घाटाेें पर भजन व छठ मैया के गीत गाए जाते हैं। ठंड होने के बाद भी लोगों के बीच यह उत्साह देखकर अच्छा लगता है और हमारा उत्साह भी दोगुना हो जाता है।

राकेश सिंह ने बताया कि जिनके पास आने-जाने के साधन हैं वे घर चले जाते हैं और सुबह फिर आ जाते हैं। लेकिन कई ऐसे लोग हैं जो बार-बार आना-जाना नहीं कर सकते। इसलिए वे यहीं घाट पर रुकते हैं। यहां की सजावट और आस्था से भरा माहौल मन मोह लेता है। इस बार कोरोना के कारण फिर भी काफी कम लोग रुके हैं। उषा दुबे ने बताया कि उन्होंने सूर्य की पहली किरण के साथ ही नर्मदा नदी के पवित्र जल में खड़े होकर सूर्य को अर्घ्य देकर अपना व्रत पूरा किया। संतोष सिंह ने बताया कि संजीवनी नगर में उनके परिवार ने छठ पूजन किया। सुबह सूर्य को अर्घ्य देकर परिवार की कुशलता की कामना छठ मैया से की।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस