जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आजादी के अमृत-महोत्सव को गरिमापूर्ण तरीके से मनाने प्रशासन की ओर से तैयारियां जारी हैं। ऐन आयोजन से पहले आसमान पर बादलों का जमघट चिंता बढ़ाने वाला है। बरसात भी रह-रहकर हो रही है। इसका असर पुलिस ग्राउंड में चल रही आयोजन की तैयारियों पर भी पड़ रहा है। राष्ट्रीय पर्व के ऐतिहासिक आयोजन में किसी प्रकार की कमी न आए- इसका जायजा लेने प्रशासन के आला अफसर आयोजन स्थल का मुआयन कर रहे हैं।

नगर निगम आयुक्त आशीष वशिष्ठ और अपर कलेक्टर विमलेश सिंह ने रविवार की शाम आयोजन स्थल का दौरा किया। इस दौरान दोनों अफसर कई अन्य विभाग प्रमुखों के साथ पुलिस ग्राउंड के प्रत्येक कोने तक पहुंचे। उन्होंने मैदान में जहां-तहां भरे पानी को तत्काल मैदान को आयोजन के योग्य करने के निर्देश दिए। मैदान में हार्ड-मैटल डस्ट डलवाई जा जा रही है, जो कीचड़ या मिट्टी के गीलेपन को कम कर देगी।

इसी तरह से मैदान को चारों तरफ से तिरंगामय कराया जा रहा है। केंद्र शासन की ओर से जिला प्रशासन को काेविड प्रोटोकाल के तहत एडवाइजरी भी जारी की गई है। लिहाजा इस बात को ध्यान में रखते हुए भी प्रशासन की तैयारियां चल रही हैं। हालांकि प्रशासन का पहला प्रयास यही है कि किसी भी तरह से बारिश के प्रभाव को कम से कम किया जा सके।

कलेक्टर ने किया आह्वान

कलेक्टर डा. इलैयाराजा टी ने जिले के नागरिकों से हर घर तिरंगा अभियान के तहत पूरे उमंग और उत्साह के साथ राष्ट्रीय ध्वज अपने घर, दुकान, प्रतिष्ठान व संस्थान में फहराने की अपील की है। उन्होंने इस राष्ट्रव्यापी अभियान में सभी से जुड़ने का आग्रह भी किया। कलेक्टर ने कहा है कि आजादी के अमृत-महोत्सव में हम वीर स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर रहे है, जिन्होंने अपने रक्त की अंतिम बूंद देकर आजादी दिलाई है। राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा हमारी आन-बान और शान का प्रतीक है। पिछले कई दिनों से जिले में इस अभियान को व्यापक स्वरूप देने गांव-गांव, गली-मोहल्ले, स्कूल, कालेज, पंचायतों और निजी संस्थानों में हर-घर तिरंगा अभियान के प्रति लोगों में भावनात्मक जुड़ाव देखा जा रहा है। आजादी की लड़ाई में जबलपुर के कई रणवांकुरों ने हंसते- हंसते अपनी जिंदगी न्यौछावर कर दी। कलेक्टर ने कहा कि अपने इन्हीं बलिदानियों के पुण्य स्मरण स्वरूप हम सबका नागरिक कर्त्तव्य है कि देश की आन-बान और शान के प्रतीक तिरंगा को फहराएं।

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close