जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर विकास का दावा करने वाली भाजपा और कांग्रेस ने नगर सरकार के अस्तित्व में आने से पहले ही अलग-अलग राह चुन ली है। जबलपुर के इतिहास में संभवत: यह पहली बार है जब कांग्रेस महापौर और पार्षद तथा भाजपा के पार्षद एकता और अखंडता की अलग-अलग शपथ लेने जा रहे हैं। नवनिर्वाचित महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू और उनके साथ कांग्रेस के पार्षद सात अगस्त को वेटरनरी कालेज परिसर में आयोजित समारोह में शपथ लेंगे तो दूसरे दिन आठ अगस्त को भाजपा पार्षद नगर निगम परिसर में आयोजित समारोह में शपथ लेंगे। नगर निगम द्वारा दोनों ही कार्यक्रमों की तैयारी की जा रही है। वेटनरी कालेज परिसर में भव्य मंच तैयार करने का 70 प्रतिशत काम हो गया है। वहीं नगर निगम परिसर में भी टेंट लगाए जा रहे हैं।

एक में पूर्व मुख्यमंत्री तो दूसरे में प्रभारी मंत्री होंगे शामिल-

अलग-अलग आयोजित किए जा रहे शपथ ग्रहण समारोह में महापौर व कांग्रेस पार्षदों के शपथ समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ, राज्य सभा सदस्य विवेक कृष्ण तन्खा सहित विधायकगण व अन्य गणमान्य जन शामिल होंगे। वहीं भाजपा पार्षदों के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में जिले के प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव, सांसद राकेश सिंह शिरकत करेंगे। वेटनरी कालेज परिसर में शपथ समारोह सुबह 11 बजे और दूसरे दिन नगर निगम परिसर में भी सुबह 11 बजे शपथ कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

भाजपा के 44, कांग्रेस के 26 पार्षद

विदित हो शपथ ग्रहण के बाद नई सरकार आकार ले लेगी। कांग्रेस से महापौर और 26 पार्षद हैं तो भाजपा के 44 पार्षद हैं। जाहिर है बहुमत भाजपा का रहेगा, लिहाजा नगर निगम अध्यक्ष भी भाजपा का ही होगा।

इनका कहना-

शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल या मुख्यमंत्री या केंद्रीय मंत्री जैसे संवैधानिक पद पर आसीन व्यक्ति की उपस्थिति होनी चाहिए। इसलिए भाजपा के नवनिर्वाचित पार्षद अलग से आठ अगस्त को शपथ दिलाने निगमायुक्त को पत्र लिखकर अलग व्यवस्था करने का आग्रह किया था। शपथ कार्यक्रम का आयोजन प्रशासन को ही करना है। कुछ लोग इसे राजनीतिक चश्मे से देख रहे हैं।- जीएस ठाकुर, अध्यक्ष, नगर भाजपा

एक साथ शपथ लेने के लिए भाजपा पदाधिकारियों से चर्चा की थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी बुलाने का आग्रह किया था। हम मुख्यमंत्री, प्रभारी मंत्री की उपस्थिति में शपथ लेने के लिए तैयार हैं। मेरा आग्रह है कि शहर विकास के लिए विचारधारा की लड़ाई को त्याग शहर विकास में एक साथ चलना चाहिए।

-जगत बहादुर सिंह अन्न्, महापौर व अध्यक्ष नगर कांग्रेस

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close