जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट से नरसिंहपुर जिले की गाडरवारा जनपद पंचायत सीईओ प्रतिभा परते को राहत मिल गई है। न्यायमूर्ति विशाल धगट की एकलपीठ ने निर्देश दिए कि स्थानांतरित की गई जगह पर वे ज्वाइन नहीं करती हैं तो उनके खिलाफ कोई कार्रवाई न की जाए। कोर्ट ने पंचायत विभाग सचिव को निर्देश दिए हैं कि याचिकाकर्ता के अभ्यावेदन पर विधिवत विचार कर तबादले पर निर्णय लिया जाए।

गाडरवारा सीईओ प्रतिभा परते की ओर से यह याचिका दायर की गई। अधिवक्ता अमृतलाल गुप्ता ने कोर्ट को बताया याचिकाकर्ता का अपने पति राजेन्द्र सिंह से विवाद है। दोनो अलग रह रहे हैं। याचिकाकर्ता के पति की बहन मीना सिंह मानपुर शहडोल से विधायक व राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं। उनके दबाव में याचिकाकर्ता का तबादला पहले डिंडोरी जिले के शहपुरा कर दिया गया। इसके खिलाफ हाई कोर्ट की शरण ली गई तो कोर्ट ने इसे स्थगित कर दिया।

राज्य सरकार ने भी याचिका लम्बित रहने के दौरान तबादला निरस्त कर दिया। इस पर याचिका वापस ले ली गई, लेकिन याचिका वापस लेने के बाद एक बार फिर मंत्री के दबाव में याचिकाकर्ता का तबादला सागर कर दिया गया। अधिवक्ता गुप्ता ने तर्क दिया कि याचिकाकर्ता पर उसके पति ने जिस व्यक्ति के साथ अनैतिक सम्बन्ध का आरोप लगाया है, वह सागर में ही पदस्थ है। जानबूझकर ऐसी जगह तबादला कराया गया, जिससे आरोप सही साबित किया जा सके।

आग्रह किया गया कि मंत्री मीना सिंह के प्रभाव क्षेत्र में याचिकाकर्ता का स्थानांतरण न किया जाए।

सुनवाई के बाद कोर्ट ने याचिकाकर्ता के अभ्यावेदन का निराकरण करने के निर्देश देकर याचिका का पटाक्षेप कर दिया। तब तक कोई कार्रवाई न करने के निर्देश दिए गए।इससे याचिकाकर्ता ने राहत की सांस ली है। वह लंबे समय से परेशान था। अब उसे उम्मीद है कि हाई कोर्ट के आदेश का प्रभावी असर होगा। उसे परेशान नहीं किया जाएगा।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close