जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर की गोपालबाग तलैया पर अतिक्रमण जस के तस कायम हैं। चारों तरफ अवैध कब्जे पर निर्माण हो गए हैं। इससे तलैया मिटने की कगार पर पहुंच गई है। इससे शहर की एक धरोहर का नामो-निशाल खत्म होने का खतरा मंडराने लगा है। हाई कोर्ट ने छह वर्ष पूर्व गोपालसदन के पास स्थित गोपालबाग तलैया के अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे। जब कार्रवाई नहीं हुई तो इसे लेकर हाई कोर्ट में अवमानना याचिका दायर की गई। मुख्य न्यायाधीश रवि मलिमठ व जस्टिस विशाल मिश्रा की युगलपीठ ने नगर निगम आयुक्त आशीष वशिष्ट को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। मामले पर अगली सुनवाई 10 अगस्त को होगी।

अधिवक्ता आनंद कृष्ण त्रिवेदी ने याचिका दायर कर बताया कि हाई कोर्ट ने छह मई, 2016 को नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिए थे कि इस मामले में नियमानुसार कार्रवाई करें। अवमानना याचिका में दलील दी गई कि छह साल बाद भी उक्त तलैया में अतिक्रमण काबिज हैं। इसके अलावा तलैया में गंदगी भी जा रही है। एक डेयरी भी संचालित है, जिससे निकलने वाली गंदगी भी तलैया में मिल रही है। गंदगी के चलते स्थानीय लोग बीमार हो रहे हैं। याचिकाकर्ता व स्थानीय लोगों ने कई बार नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारियों को अभ्यावेदन पेश कर कार्रवाई की मांग की, लेकिन कुछ नहीं हुआ इसलिए अवमानना याचिका दायर की गई।

अधिवक्ता आनंदकृष्ण त्रिवेदी ने साफ किया कि वे इस दिशा में शांत नहीं बैठेंगे। इस मामले को समय-समय पर उठाते रहे हैं। अब अवमानना याचिका में जमीनी हालात रेखांकित करके ठोस कार्रवाई सुनिश्चित कराएंगे। यह उनका कर्त्तव्य है। इसीलिए स्वयं जनहित याचिकाकर्ता बने हैं। खुद ही पैरवी कर रहे हैं। वे बचपन में इस तलैया के आसपास खेला करते थे। लिहाजा, उनका इस तलैया से भावनात्मक जुड़ाव है। वे इसे मिटने नहीं देंगे। हर हाल में इसे अतिक्रमण-मुक्त करवाने प्रयास जारी रखेंगे।इसके लिए आंदोलन भी करने की रणनीति बना रहे हैं।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close