जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि। Coronavirus Jabalpur News : प्रदेश के दो महानगर भोपाल व इंदौर के मुकाबले जबलपुर ने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को सेहतमंद करने में बाजी मार ली है। जिले में अब तक कोरोना के 75 प्रतिशत मरीज स्वस्थ हो चुके हैं जबकि भोपाल में आंकड़ा 62 व इंदौर में मात्र 48 प्रतिशत है।

हालांकि भोपाल व इंदौर की तुलना में जबलपुर में मरीजों की मौत का ग्राफ बढ़ा है जिसके लिए चिकित्सक कोरोना मरीजों में पहले से रही अन्य बीमारियों को वजह बता रहे हैं। इधर जबलपुर में ऐसा भी मामला सामने आया जब कोरोना पीड़ित मरीज को अस्पताल न ले जाकर होम आइसोलेशन में रखा गया जो कि वायरस के संक्रमण से मुक्त हो चुका है।

डायबिटीज समेत अन्य रोगों में खतरा

कोविड-19 प्रभारी डॉ. संजय भारती का कहना है कि कोरोना संक्रमित मरीज पूर्व से ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, कैंसर, किडनी रोग समेत कुछ अन्य गंभीर बीमारियों की चपेट में है तो उसे स्वस्थ होने में ज्यादा समय लगता है। जबलपुर में अब तक कोरोना के कारण जितनी भी मौत हुई है उसमें या तो अन्य बीमारियां अथवा मरीज के अस्पताल पहुंचने में देरी वजह बनी। कुछ मरीजों में कोरोना का पता उनकी मृत्यु के बाद हो पाया।

इच्छाशक्ति के बल पर कोरोना से मुकाबला

संजीवनी नगर निवासी इस कोरोना योद्धा के अनुसार यदि वायरस से संक्रमित मरीज अपने दिल-दिमाग से यह बात निकाल दे कि वह बीमार है तो बिना किसी उपचार के कोरोना से मुकाबला कर सकता है, जिसका वह जीता जागता उदाहरण है। उन्होंने कहा कि 8 मई को कोरोना वायरस की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद नई गाइड लाइन के तहत घर पर ही रहकर बीमारी से लड़ने का मन बनाया। अधिकारियों ने उनकी बात मान ली। स्वास्थ्य विभाग ने उन्हें एक टैबलेट भी मुहैया नहीं कराई, लेकिन घर का बना खाना दिन में 3-4 बार भरपेट खाकर, गर्म पानी व हल्दी मिश्रित गर्म दूध का सेवन, दिन में 2 बार गर्म पानी का भाप लेकर, साधारण व्यायाम व इच्छाशक्ति के दम पर उन्होंने कोरोना से मुकाबला किया।

फैक्ट फाइल-

27 मई की स्थिति में-कोरोना

जिला कुल पॉजिटिव मृत्यु स्वस्थ एक्टिव केस स्वस्थ होने का प्रतिशत

जबलपुर 221 9 166 46 75

इंदौर 3182 119 1537 1526 48

भोपाल 1356 51 853 452 62

उज्जैन 614 54 261 299 42

बुरहानपुर 293 14 182 97 62

कोरोना से मृत्यु दर

जबलपुर-4 प्रतिशत

इंदौर-3.73 प्रतिशत

भोपाल-3.76 प्रतिशत

उज्जैन-8.79 प्रतिशत

बुरहानुपर-4.77 प्रतिशत

इनका कहना है

कोरोना से प्रभावित प्रदेश के रेड जोन वाले जिलों के मुकाबले जबलपुर में वायरस से संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने की दर बेहतर स्थिति में है। कोरोना से ज्यादातर उन मरीजों की मौत हुई है जो पहले से अन्य गंभीर बीमारियों की चपेट में थे या फिर समय से अस्पताल नहीं पहुंच पाए। मेडिकल व स्वास्थ्य विभाग का अमला कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम व मरीजों के उपचार में बेहतर काम कर रहा है।

-डॉ. मनीष मिश्रा, सीएमएचओ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना