दमोह, नईदुनिया प्रतिनिधि। मंगलवार की रात कोतवाली थाना क्षेत्र के चेनपुरा मोहल्ले में रहने वाले एक युवक को सिर में चोट लगने पर इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया था। जहां घायल ने दो पुलिसकर्मियों पर डंडे से मारपीट का आरोप लगाया था। इसके बाद बड़ी संख्या में स्वजन आंबेडकर चौराहे पर पहुंचे और धरना, प्रदर्शन

किया। सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और घायल व स्वजनों से बात की। स्वजनों ने पुलिस कर्मियों पर मामला दर्ज करने की मांग की। उस दौरान अधिकारियों की समझाइश पर स्वजन मान गए और घायल को लेकर जिला अस्पताल पहुंच गए। बुधवार को कांग्रेस विधायक ने घायल से मुलाकात की और दोपहर में कांग्रेस ने स्वजनों के साथ मिलकर एसपी के नाम ज्ञापन देकर पुलिस कर्मियों पर मामला दर्ज करने की मांग की। शाम को एएसपी शिवकुमार सिंह ने दोनों आरक्षकों को निलंबित कर दिया और सीएसपी अभिषेक तिवारी को

जांच के आदेश दिए।

आंबेडकर चौक पर दे रहे थे धरना : मंगलवार की रात आंबेडकर चौक पर धरना दे रहे घायल ओमकार अहिरवार ने बताया कि वह घर के बाहर अपनी पत्नी के साथ बिना मास्क के बैठा था। इसी दौरान कोतवाली में पदस्थ आरक्षक महेश यादव और महेंद्र अहिरवार ने उसके सिर पर डंडा मारकर घायल कर दिया और अस्पताल लाकर भर्ती करा दिया। सभी स्वजन आंबेडकर चौराहे पहुंचे और धरना देने लगे। उनकी मांग थी कि दोनों पुलिस कर्मियों पर एफआइआर दर्ज की जाए। सूचना मिलते ही कोतवाली में पदस्थ एसआइ श्याम बैन पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और स्वजनों से बात की और आश्वासन दिया और हर संभव मदद की बात भी कही। लेकिन स्वजन मानने तैयार नहीं थे और काफी देर तक हंगामा करते रहे फिर समझाइश के बाद अस्पताल चले गए।

कांग्रेस विधायक ने एसपी को सौंपा ज्ञापन : उधर बुधवार को सूचना मिलने पर कांग्रेस जिला अध्यक्ष मनु मिश्रा और कांग्रेस विधायक अजय टंडन घायल से मिलने जिला अस्पताल पहुंचे और एसपी डीआर तेनीवार को पूरे मामले की जानकारी देकर कार्रवाई की मांग की और कार्रवाई न होने पर धरना आंदोलन की बात कही। वहीं दूसरी ओर कांग्रेसियों ने एसपी आफिस पहुंचकर एसपी के नाम ज्ञापन सौंपकर दोनों आरक्षकों पर मामला दर्ज करने की मांग की और कार्रवाई न होने पर आंदोलन की बात कही। शाम को एएसपी शिवकुमार सिंह ने मामले को देखते हुए दोनों आरक्षकों को निलंबित कर सीएसपी अभिषेक तिवारी को जांच के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्‍टया मामला गिरने के कारण घायल होने का प्रतीत हो रहा है फिर भी सीएसपी मामले की जांच करेंगे। वहीं अपने ऊपर लगे आरोप के संबंध में आरक्षक महेश यादव ने बताया कि रात को वह पुलिस के साथ गश्त कर रहे थे। इसी दौरान ओमकार घर के बाहर शराब के नशे में स्वजनों से विवाद कर रहा था। पुलिस की गाड़ी देखते ही स्वजनों के साथ ओमकार ने भागना शुरू कर दिया जिससे वह गिरकर घायल हो गया। उन्होंने मानवता दिखाते हुए जिला अस्पताल लाकर भर्ती कराया है उस पर लगे मारपीट के आरोप झूठे हैं। सीएसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि आरक्षक महेश यादव और महेंद्र अहिरवार को एएसपी ने निलंबित कर जांच के आदेश दिए हैं।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags