जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे डोर टू डोर अभियान में बुखार के 481 नए मरीज सामने आए। एलाइजा जांच में इन मरीजों में से आठ डेंगू से संक्रमित मिले। इस प्रकार जिले में डेंगू मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 418 पहुंच गया। वहीं अब तक मलेरिया के 10 तथा चिकनगुनिया के 35 मरीज सामने आ चुके हैं। अभियान के दौरान एक हजार 329 घरों में लार्वा सर्वे किया गया। इस दौरान 61 घरों में रखे 79 कंटेनरों में मच्छरों के लार्वा मिले, जिनका मौके पर विनष्टीकरण कराया गया। घरों में मिले 5 हजार 530 कंटेनरों में लार्वा की जांच की गई। डेंगू संक्रमित मिले 195 मरीजों के घरों में मच्छरों के विनष्टीकरण के लिए स्प्रे एवं फागिंग से दवा का छिड़काव कराया गया।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. आरके पहारिया ने बताया कि विभाग के कर्मचारी नवीन यादव ने टीम के साथ नगर निगम जोन क्रमांक छह, सात एवं आठ में घर-घर भ्रमण किया। रामपुर छापर में मिले डेंगू मरीजों के घर विभाग की दूसरी टीम पहुंची। जहां क्षेत्र के नागरिकों को मच्छरों की रोकथाम के उपाय बताए गए। उन्होंने कहा कि लोगों के घरों के आसपास जमा बरसात का पानी मच्छरों का खतरा बढ़ा रहा है। वहीं तमाम लोग घरों में रखे कूलर, गमले, टंकी का पानी नहीं बदल रहे। तमाम घरों में कूलर व गमलों में मच्छरों के लार्वा पनप रहे हैं। इधर, शहर में हर दिन डेंगू का खतरा बढ़ रहा है। बुखार व डेंगू के मरीजों से अस्पतालों के वार्ड भर गए हैं। इधर, जिला अस्पताल विक्टोरिया के शिशु रोग गहन चिकित्सा इकाई में पदस्थ एक डॉक्टर भी डेंगू की चपेट में आ गए हैं। जिन्हें नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local