जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। एल्गिन अस्पताल में फीवर क्लीनिक के संचालन पर संचालनालय की आपत्ति के बाद रोक लगा दी गई है। कई गर्भवती महिलाओं के कोरोना संक्रमित होने की घटना को ध्यान में रखते हुए संचालनालय ने न सिर्फ एल्गिन बल्कि प्रदेश के समस्त प्रसूति केंद्रों में फीवर क्लीनिक के संचालन को रोकने का निर्देश जारी किया है। एल्गिन अस्पताल के आरएमओ डॉ. संजय मिश्रा ने फीवर क्लीनिक पर रोक लगाए जाने की पुष्टि की है।

संक्रमण फैलने का खतरा: फीवर क्लीनिक के कारण एल्ग्नि अस्पताल में उपचार कराने पहुंचने वाली गर्भवती व अन्य महिलाओं के संक्रमित होने का खतरा बना हुआ था। हालांकि एल्ग्नि प्रशासन ने फीवर क्लीनिक की पृथक व्यवस्था की थी, लेकिन वहां पहुंचने वाले कोरोना संदिग्धों की वजह से अस्पताल परिसर में वायरस का लोड देखा जा रहा था। कई महिलाएं प्रसव से पूर्व कोरोना की चपेट में आ गई थीं। उसी अवस्था में उनका प्रसव कराना पड़ा।

फीवर क्लीनिक में पहुंचने लगे संदिग्ध: इधर, त्योहार बीतने के बाद फीवर क्लीनिक में कोरोना संदिग्धों की संख्या बढ़ने लगी है। सर्दी जुकाम व बुखार के मरीज वहां पहुंचने लगे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में 35 से ज्यादा फीवर क्लीनिक का संचालन किया जा रहा है। ज्यादातर निजी अस्पतालों में भी कोरोना संदिग्धों के परीक्षण की पृथक व्यवस्था की गई है। विक्टोरिया अस्पताल के डॉ. संदीप भगत एमडी का कहना है कि कोरोना से बचाव के लिए उससे संबंधित कोई भी लक्षण सामने आने पर चिकित्सीय परामर्श में विलंब नहीं करना चाहिए।

स्वास्थ्य विभाग के डीपीएम विजय पांडेय ने कहा कि फीवर क्लीनिक में जांच व उपचार की निशुल्क सुविधा की गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रत्नेश कुरारिया औचक निरीक्षण कर फीवर क्लीनिक का जायजा लेते हैं।

इनका कहना है: गर्भवती महिलाओं को कोरोना संक्रमण से बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। प्रसव उपरांत नवजात शिशु पर भी कोरोना का खतरा मंडराता रहता है। संचालनालय के निर्देश के बाद एल्ग्नि अस्पताल में फीवर क्लीनिक बंद किया गया है।

डॉ. संजय मिश्रा, आरएमओ

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस