जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। इंदौर से बिलासपुर जाने वाली नर्मदा एक्सप्रेस 18233 के जबलपुर स्टेशन आने से पांच मिनट पहले इसका प्लेटफार्म बदल दिया गया। ट्रेन को सुबह 4.10 पर मुख्य रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पांच पर आना थी, जिसकी सूचना स्टेशन के डिस्प्ले बोर्ड पर 30 मिनट पहले से दिखाई जा रही थी। इसे पढ़कर यात्री अपना लगेज लेकर सीढियों से प्लेटफार्म पांच पर पहुंच गए और ट्रेन आने का इंतजार करते रहे। महिलाओं से लेकर बुजुर्ग, बच्चे और बड़े हर कोई ट्रेन आने का इंतजार करता रहा कि तभी एनांउसमेंट हुआ कि ट्रेन को प्लेटफार्म पांच की बजाय प्लेटफार्म छह पर लिया जा रहा है। यह सुनकर यात्रियों में अफरा-तफरी बढ़ गई।इधर यात्री परेशान-हैरान होकर अपना लगेज लिए सीढियों से प्लेटफार्म छह की और दौड़ लगाने लगे। इस दौरान महिला, बुजुर्ग और बच्चों को काफी परेशानी हुए। अचानक प्लेटफार्म बदलने से भारी-भरकम लगेज उठाने के लिए यात्री को ऐन वक्त पर कुली भी नहीं मिली। यात्री के साथ आए उनके परिजनों से ही लगेज सिर पर रखकर प्लेटफार्म छह की ओर दौड़ लगा दी।

20 मिनट लेट रवाना की नर्मदा एक्सप्रेस

इंदौर-बिलासपुर को मुख्य रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पांच पर ही लिया जाता है। शुक्रवार की सुबह भी इसे तय समय पर प्लेटफार्म पांच पर ही लिया जाना था। मुख्य रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म एक और छह पर लगे डिस्प्ले बोर्ड पर नर्मदा एक्सप्रेस को प्लेटफार्म पांच पर लेने की सूचना प्रदर्शित की गई। इस सूचना पर यात्री ट्रेन आने के 20 मिनट पहले प्लेटफार्म पांच पर पहुंच गए, लेकिन अचानक प्लेटफार्म बदलने के बाद अधिकांश यात्री सीढियों से प्लेटफार्म छह पर आने के दौरान भीड़ में फंस गिर गए। कई बच्चे भी परेशान हुए। इधर इस दौरान प्लेटफार्म नंबर छह के बाहर बने एस्केलेटर भी बंद था, जिससे यात्री को काफी मुश्किल हुई। ट्रेन सुबह 4.10 की बजाए 4.16 पर आई और इसे 20 मिनट देरी यानि 4.40 पर कटनी की ओर रवाना किया गया।

हर दिन शक्तिपुंज का बदल रहे समय-

मुख्य रेलवे स्टेशन पर जबलपुर से हावड़ा जाने वाली शक्तिपुंज एक्सप्रेस का समय बार-बार बदला जा रहा है। पिछले तीनों से ट्रेन को रात 11.40 से रवाना होने वाली ट्रेन को एक घंटे रिशेड्यूल किया जा रहा है, लेकिन इसे एक घंटे बाद भी नहीं चलाया जा रहा। ट्रेन रात एक से डेढ़ बजे रवाना हो रही है, जिससे ट्रेन से जाने वाली यात्री परेशान हो गए हैं। रेलवे का कहना है कि कोच लेट आने और तकनीकी कमियों की वजह से दिक्कत आ रही है, जिसे जल्द ही दूर किया जाएगा।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close