जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सीट नहीं है फिर भी आ जाओ, आगे सीट खाली होगी तो बैठ जाना। यह कहकर कंडक्टर ने सवारियों को बुलाया और ठसाठस बस को भर लिया। 32 सीट की बस में 52 सवारी बैठाई गई, वहीं 40 सीट की बस में 65 सवारी आरटीओ को चेकिंग में मिलीं। नियमों का पालन नहीं करने पर बसों का चालान किया गया।

शुक्रवार को आरटीओ द्वारा चलाए गए चेकिंग अभियान के दौरान 10 ऐसी बसें मिली, जिसमें ड्रायवरों ने जरूरत से ज्यादा सवारी बैठाकर रखी थी। ऐसी बसों को रोककर सख्ती से कार्रवाई की गई, इसके अलावा अन्य नियमों का पालन नहीं करने वाले बस चालकों के भी चालान किए गए।

टीम को देख बस छोड़कर भागे ड्राइवर : शुक्रवार की सुबह से आटीओ के अधिकारी, कर्मचारी अंधमुख बायपास, कुसनेर और सिहोरा में पहुंचे। आरटीओ की टीम को देखते ही बस ड्रायवरों ने यहां वहां से भागने की कोशिश की, लेकिन सभी तरफ टीम लगी हुई थी। जिन्होंने किसी भी बस ड्रायवर को भागने नहीं दिया।

वसूला जुर्माना : इन तीनों मार्ग से जाने वाले सभी बसों की रोककर चेकिंग की गई। सुबह से शाम लगभग 5 बजे तक 75 बसों की जांच की गई। जिसमें से 23 बसों में खामियां मिलीं। इसमें सबसे अधिक ओवरलोडिंग वाली बसें मिली, जिन बसों के मालिकों को बुलाकर ओवरलोडिंग नहीं कराने और इमरजेंसी गेट से सीट को हटाने के सख्त निर्देश देते हुए नियमों के पालन करने हिदायद दी।

कार्रवाई पर एक नजर:

कुल जांच की गई बसें - 75

जरूरत से ज्यादा सवारी - 10

ड्रायवर का लायसेंस नहीं - 1

बिना प्रदूषण प्रमाण - 1

कंडेक्टर का लायसेंस नहीं- 2

स्पीड गर्वनर नहीं होने पर फिटनेस निरस्त किए - 2

इमरजेंसी गेट पर सीट- 2

अन्य- 5

जुर्माना- 41 हजार 500

Posted By: Sunil Dahiya

NaiDunia Local
NaiDunia Local