जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ है, लेकिन इस भीड़ के दौरान गंदगी भी लगातार बढ़ रही है। जबलपुर से रवाना होने वाली ट्रेनों में ही नहीं बल्कि यहां से निकलने वाली ट्रेनों में भी यही हाल है। इन शिकायत को देखने के बाद जबलपुर रेल मंडल के डीआरएम अचानक (कोचिंग डिपो) पहुंचे। यहां उन्होंने कोच की सफाई देखी । उन्हें एसी कोच में तो बेहतर सफाई मिली, लेकिन स्लीपर कोच की सफाई से वह असंतुष्ट थे। उन्होंने जिम्मेदारी अधिकारी और सफाई में जुटे कर्मचारियों को फटकार लगाई। उन्होंने निर्देश दिया कि जबलपुर से रवाना होने वाली सभी ट्रेनों की सफाई में किसी तरह की कोई शिकायत नहीं आना चाहिए। यदि ऐसा होता है तो जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

स्लीपर कोच की सफाई पर दें जोर-

जबलपुर रेल मंडल के डीआरएम को अचानक कोचिंग डिपो में आया देख, जिम्मेदारी अधिकारी और कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। उन्होंने तत्काल अपने काम की गुणवत्ता सुधारते हुए सफाई करने लगे। निरीक्षण के दौरान डीआरएम ने हर कोच के टायलेट से लेकर वाशवेसिंग, सीट के नीचे की सफाई को भी देखा। इस दौरान उन्होंने स्लीपर कोच की सफाई को और बेहतर करने कहा। उन्होंने कोच में लगे बायोटायलेट की सफाई के दौरान रखी जाने वाली सावधानियों की भी जानकारी दी। निरीक्षण के दौरान डीआरएम के साथ कोचिंग डिपो अधिकारी श्री स्वप्निल पांडे भी उपस्थित थे।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close