अतुल शुक्ला, जबलपुर नईदुनिया। रेलवे के लिए इन दिनों हवाला कारोबार करने वाले लोगों से जब्त किया गया पैसा सिरदर्द बना हुआ है। आरपीएफ ने हवाला कारोबारियों के पास मिले पैसे को जब्त कर लिया है, लेकिन इस पैसे को न तो आयकर विभाग अब तक ले गया है और न ही हवाला कारोबारियों ने इस पैसे को लेने में कोई खास रूचि दिखाई है। जबलपुर रेल मंडल ने जबलपुर और कटनी रेलवे स्टेशन पर हवाला कारोबार करने वाले लोगों के गुर्गो से अब तक एक करोड़ रुपये जब्त किए है। लेकिन कई महीनों से यह पैसा आरपीएफ के पास ही पड़ा धूल खा रहा है।

पैसा सीज, कोर्ट से ही छूटेगा: नियमानुसार जबलपुर रेल मंडल की आरपीएफ ने यह पैसा सीज कर लिया है। यदि इस पैसे को लेना है तो वह रेलवे कोर्ट की प्रक्रिया पूरी होने पर ही मिल सकता है। जिन्होंने इस पैसे पर अपना दावा किया है, वह अब तक कोर्ट नहीं गए हैं तो वहीं आयकर विभाग भी इस पैसे को लेने में कोई खास रूचि नहीं ले रहा है। उसने भी कोर्ट की प्रक्रिया पूरा करने में महीनों का वक्त लगा दिया है। आरपीएफ भी इस पैसे को बैंक में जमा नहीं करा सकता, जिस वजह से यह पैसा इन दिनों धूल खा रहा है।

ट्रेन ही साफ्ट टारगेट: हवाला का कारोबार करने वालों के लिए रेलवे स्टेशन और ट्रेन सबसे अच्छा माध्यम है। इस माध्यम का जबलपुर के दो हवाला कारोबारियों ने जमकर उपयोग किया। जबलपुर और मदनमहल ही नहीं ​बल्कि कटनी रेलवे स्टेशन से करोड़ों रुपये लेकर ट्रेन से मुंबई और अहमदाबार पहुंचाया गया। इस दौरान आरपीएफ ने स्टेशन पर तीन से चार बार हवाला कारोबारियों को पकड़कर इनसे लगभग एक करोड़ रुपये जब्त किए, जो अभी भी आरपीएफ के पास ही हैं।

वर्जन:

जबलपुर और कटनी रेलवे स्टेशन से हवाला के जब्त किए लगभग एक करोड़ रुपये हमने सीज कर लिए हैं। यह रुपये को कोर्ट से ही लिया जा सकता है।

अरूण त्रिपाठी, डीएससी, जबलपुर रेल मंडल

Posted By: Sunil Dahiya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags