Jabalpur News : जबलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि) । बिशप पद से हटाए गए पीसी सिंह की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। हाल ही में उसे कोर्ट से जमानत का लाभ मिला है। उसके जेल से बाहर निकलने के बाद ईडी व ईओडब्ल्यू की टीमें सक्रिय हो गई हैं। ईडी की टीम ने शहर में डेरा डाल दिया है। ईओडब्ल्यू के पास जब्त दस्तावेज खंगाले जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार बिशप के जेल से छूटने के पहले ही ईडी मामले की जांच पड़ताल में सक्रिय हो गई थी। ईडी ने ईओडब्ल्यू से पीसी सिंह के खिलाफ चली जांच, संबंधित दस्तावेज, चालान आदि की जानकारी ली थी। शनिवार को ईडी की टीम जबलपुर पहुंची। टीम ने रविवार को भी दस्तावेजों का अवलोकन किया। पीसी सिंह लंबे समय तक जेल में रहा। जिसके बाद कोर्ट से उसे 17 जनवरी को जमानत मिली।

यह है मामला-

बिशप पद से हटाए गए पीसी सिंह के खिलाफ आठ सितंबर 2022 को ईओडब्ल्यू ने छापामार अंदाज में कार्रवाई की थी। उसके घर से एक करोड़ 65 लाख रुपये नकद, 18 हजार डालर व 118 पाउंड विदेशी मुद्रा मिली थी। बिशप उस समय जर्मनी में था। 11 सितंबर को जर्मनी से लौटे पीसी सिंह को नागपुर विमानतल से गिरफ्तार कर लिया गया था। 13 अक्टूबर को ईओडब्ल्यू ने उसके बेटे पीयूष पाल सिंह को गिरफ्तार किया था। कुछ समय बाद पीसी के करीबी सुरेश जैबक को भी ईओडब्ल्यू ने जेल भेज दिया। पीसी सिंह को डायोसिस ने सात नवंबर को बिशप पद से बर्खास्त किया था। ईओडब्ल्यू ने पांच दिसंबर को कोर्ट में चालान पेश किया था। उसके खिलाफ फेमा के तहत प्रकरण दर्ज किया गया था। ईओडब्ल्यू द्वारा जब्त रकम ईडी ने भोपाल स्थित कार्यालय में जमा करा ली थी।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close