जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना की तीसरी लहर के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कक्षा एक से 12वीं तक के स्कूल 31 जनवरी तक बंद कर दिए गए हैं। राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल के द्वारा दूरदर्शन के माध्यम से बच्चों की पढ़ाई कराई जानी चाहिए। जिससे शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों तक भी शैक्षणिक कार्यक्रम पहुंच सके और उनकी निरंतर पढ़ाई जारी रह सके।

ये मांग मध्य प्रदेश जागरूक अधिकारी कर्मचारी संयुक्त समन्वय समिति ने की है। समिति के जिला अध्यक्ष राबर्ट मार्टिन ने जारी बयान में बताया कि शासकीय स्कूलों में पढ़ने वाले अधिकांश विद्यार्थियों के पास स्मार्ट फोन नहीं है। जिससे वे आनलाइन पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। यदि सभी शैक्षणिक कार्यक्रम दूरदर्शन के माध्यम से प्रसारित किए जाएं तो विद्यार्थियों की पढ़ाई बाधित नहीं होगी। समिति के स्टेनली नाबर्ट, विनोद सिंह, गोपी शाह, शरीफ अंसारी, फिलिप अंथोनी, रऊफ खान, सुनील झारिया, एनोस विक्टर, सतीश त्रिपाठी, विश्वनाथ सिंह, चेतन्य कुश्रे, कमलेश साहू, आरपी खनाल, उमेश सिंह ठाकुर, रवि कुमार जैन आदि ने आयुक्त राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल से मांग की है कि शासकीय शालाओं के शैक्षणिक कार्यक्रम दूरदर्शन के माध्यम से प्रस्तुत किए जाएं।

नियमितीकरण के इंतजार में अतिथि शिक्षक: शिक्षक विहिन स्कूलों में अतिथि शिक्षक लगभग 15 वर्षों से प्रदेश के ग्रामीण अंचल की दूर दराज की शालाओं में अपनी सेवाए दे रहें हैं। लेकिन शिक्षा विभाग द्वारा इनके नियमितीकरण के संबंध में कोई योजना नहीं है। उक्त आरोप मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ ने लगाए हैं। संघ के जिला अध्यक्ष अर्वेंद्र राजपूत, आलोकअग्निहोत्री ने जारी बयान में बताया कि यह अतिथि शिक्षक अपने जीवन का एक लंबा अरसा पठन - पाठन कार्य में लगा चुके है। उम्र के इस पड़ाव में अन्य कोई व्यवसाय करने योग्य नहीं हैं।यदि शासन द्वारा नियमिततीकरण की कोई ठोस योजना नहीं बनाई जाती है तो इन अतिथि शिक्षकों को भारी आर्थिक कठिनाईयों का सामना करना पड़ेगा। संघ अवधेश तिवारी अटल उपाध्याय, नरेंद्र दुबे , मुकेश सिंह , मिर्जा मंसूर बेग, दुर्गेश पांडेय , मुन्नालाल पटेल , आशुतोष तिवारी, बृजेश मिश्र , एलएनदुबे , योगेंद्र मिश्रा , सुरेंद्र जैन, प्रशांत शुक्ला, मनीष लोहिया, नितिन शर्मा आदि ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि प्रदेश में कार्यरत हजारों अतिथि शिक्षकों के नियमितीकरण किया जाए।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local