जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। नगर निगम सीमा में खाली पड़े प्लाट एक बार फिर कचराघर बन गए हैं। डोर टू डोर कचरा कलेक्शन की व्यवस्था बिगड़ते ही लोगों ने घरों का कचरा इन खाली प्लाटों में फेंकना शुरू कर दिया है। दीपावली पर हुई घरों की साफ-सफाई से निकला ज्यादातर कचरा भी इन खाली प्लाटों में ही फेंका गया है।

डोर टू डोर कचरा कलेक्शन की व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ गई है। कचरा उठाने के लिए घर-घर पहुंचने वाले कर्मियों ने भी रोज आना छोड़ दिया है। हर तीसरे-चौथे दिन में कचरावाला पहुंच रहा है। इतने दिनों तक लोगों के घरों में ही रखा कचरा संड़ाध मारने लगता है। इससे बचने के लिए लोगों ने अब घरों का कचरा खाली प्लाट में फेंकना शुरू कर दिया था। स्थिति यह हो गई है कि खाली प्लाटों में कचरा का ढेर गए गए हैं।

आसपास के लोग हो रहे परेशान: खाली प्लाट में कचरा डंप होने से सबसे ज्यादा परेशानी आसपास रहने वाले लोगों को हो रही है। कचरा के ढेर से उठती बदबू और मच्छर ने लोगों को परेशान कर दिया है। लोग इसकी शिकायत नगर निगम में भी कर रहे हैं लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

पहले लगता था जुर्माना: नगर निगम ने करीब 4 साल पहले खाली प्लाटों पर कचरा फेकने में जुर्माना लगाना शुरू किया था। करीब आधा सैकड़ा लोगो पर जुर्माना भी लगाया गया था। जिसके बाद लोगों ने इन प्लाटों में कचरा फेंकना बंद कर दिया था क्योंकि उसी समय डोर टू डोर कचरा कलेक्शन की व्यवस्था भी शुरू हो गई थी लेकिन इस व्यवस्था के बिगड़ते ही एक बार फिर लोगों ने खाली प्लाटों में कचरा फेंकना शुरू कर दिया है। निगम ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी नहीं कर रहा है।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस