जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश में कहीं भी अघोषित बिजली कटौती जैसी स्थिति नहीं है। यदि कहीं बिजली गुल होती भी है तो चंद मिनटों में वापस आ जाती है। यह दावा है प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का। उन्होंने कहा कि अगर कहीं से अघोषित कटौती की जानकारी मिलती है तो संबंधित अफसरों पर कार्रवाई की जाएगी। मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मंडला जाते समय अपने अल्पप्रवास के दौरान जबलपुर में कहा कि मध्य प्रदेश वह राज्य है जो कि किसानों के साथ घरेलू उपभोक्ताओं को भी सब्सिडी दे रहा है। उनका कहना है कि किसानों को अगर हम एक रुपये की बिजली देते हैं, तो उनसे सिर्फ आठ पैसे लेते हैं। इसी तरह घरेलू उपभोक्ताओं को भी साढ़े पांच हजार करोड़ की सब्सिडी दी जा रही है।

प्रद्युम्न सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में किसान और घरेलू उपभोक्ताओं को आज हम 21 हजार करोड़ से अधिक सब्सिडी दे रहे हैं। प्रदेश में अघोषित बिजली को लेकर ऊर्जा मंत्री ने कहा है कि प्रदेश में जितनी मांग बिजली की है, उतनी आपूर्ति है। फिर भी अगर कहीं बिजली की अघोषित कटौती हो रही है तो उस पर तत्काल संज्ञान लिया जाएगा। उसे न सिर्फ बंद किया जाएगा, बल्कि उन अधिकारियों पर भी कार्रवाई की जाएगी, जो अघोषित बिजली कटौती में लिप्त होंगे।

बिजली कर्मियों ने तीन व चार अक्टूबर को सामूहिक अवकाश का नोटिस थमाया

जबलपुर। पूर्व क्षेत्र विद्युत कंपनी में मनमानी का आरोप लगाते हुए बिजली कर्मियों ने तीन व चार अक्टूबर को सामूहिक अवकाश पर रहने का नोटिस थमा दिया है। यह कदम मध्य प्रदेश यूनाइटेड फोरम ने उठाया है। उसने त्योहार के दौरान विद्युत व्यवधान की आशंका जताई है। ऐसा इसलिए, क्योंकि बिजली कर्मचारी प्रबंध संचालक सहित अन्य अधिकारियों के रवैये से नाराज हैं। लक्ष्य अधिक दिए जा रहे हैं, जबकि संसाधन सीमित हैं। इससे पूर्व क्षेत्र कंपनी में कार्यरत कर्मचारियों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। आक्रोश गहराता जा रहा है। पिछले दिनों वीकेएस परिहार के नेतृत्व में अधिकारियों के साथ बैठक आहूत की गई थी। जिसमें कर्मचारियों की व्यथा से अवगत कराया गया। इसके बावजूद ठोस कार्रवाई नदारद रही। लिहाजा, तीन व चार अक्टूबर को सामूहिक अवकाश का नोटिस दे दिया गया है। इस दौरान मोबाइल बंद रखा जाएगा। बिजली उपभोक्ताओं को होने वाली असुविधा के लिए खेद जताते हुए पूरी जिम्मेदारी पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी पर डाली गई है।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close