जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने सोमवार को एक अंतरिम आदेश में कहा कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन, ईपीएफओ के कर्मियों को आसन्न स्थानीय निकाय चुनाव में ड्यूटी करने के लिए बाध्य न किया जाए। न्यायमूर्ति एसए धर्माधिकारी की एकलपीठ ने राज्य निर्वाचन आयोग, जबलपुर व भोपाल कलेक्टर को नोटिस जारी किए। सभी से तीन सप्ताह में जवाब मांगा गया है।

ईपीएफ आर्गनाइजेशन की ओर से याचिका दायर की गई। अधिवक्ता राहुल दिवाकर ने कोर्ट को अवगत कराया कि कि चार जून, 2022 को याचिकाकर्ता संगठन के कर्मियों व अधिकारियों को चुनाव ड्यूटी करने के लिए आदेश जारी किया गया। जबकि नियमानुसार राज्य सरकार, स्थानीय निकायों व लोक स्थापनाओं के कर्मियों, अधिकारियों की ही स्थानीय निकाय चुनाव में ड्यूटी लगाई जा सकती है। इन्ही कर्मियों को पीठासीन अधिकारी बनाया जा सकता है। याचिकाकर्ता न तो राज्य सरकार के कर्मी हैं और न ही केंद्र सरकार के। बल्कि वे एक संगठन के कर्मी हैं। चुनाव कराने के लिए उनकी ड्यूटी नहीं लगाई जा सकती। सुनवाई के बाद कोर्ट ने अंतरिम आदेश के जरिए याचिकाकर्ता संगठन के कर्मियों को चुनाव ड्यूटी के लिए बाध्य न करने के निर्देश देकर अनावेदकों से जवाब-तलब कर लिया।

नशा मुक्ति दिवस पर केंद्रीय जेल में बंदियों के लिए विधिक साक्षरता शिविर :

मध्य प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार व प्रधान जिला न्यायाधीश व अध्यक्ष नवीन कुमार सक्सेना के मार्गदर्शन मे अंतर्राष्ट्रीय नशा मुक्ति दिवस पर केन्द्रीय जेल जबलपुर में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव उमाशंकर अग्रवाल, जिला विधिक सहायता अधिकारी मुहम्मद जीलानी, रेडक्रास सोसायटी के सुनील गर्ग,तेज सिंह ठाकुर व विधि छात्रा हिमांशी पाराशर व दो पैरालीगल वालेंटियर्स की उपस्थिति मे शिविर आयोजित किया गया।जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव उमाशंकर अग्रवाल ने बंदियों को नशा से दूर रहने हेतु प्रेरित किया।

सुप्रीम कोर्ट के सोनाधार मामले में दिये गये निर्देशों के पालन में 14 वर्ष से अधिक समय से परिरूद्ध बंदियों के समय-पूर्व रिहाई के लिए जेल की ओर से की गई कार्यवाही की मानीटरिंग व बदियों की काउंसलिंग भी गई गई। जिला विधिक सहायता अधिकारी मोहम्मद जिलानी द्वारा बंदियों को निश्शुल्क विधिक सहायता संबंधी जानकारी दी। उप जेल अधीक्षक मदन कमलेश ने जेल में बंदियों की नियमित कार्यप्रणाली की जानकारी से अवगत कराया। सहायक जेल अधीक्षक हिमांशु तिवारी ने जेल में संचालित विधिक सहायता की जानकारी दी।शिविर में दण्डित बंदी ने नशा मुक्ति के संबंध में स्वयं लिखित कविता का गायन किया। अन्य बंदियों ने भी देशभक्ति गीत का गायन किया। इसके उपरांत सचिव अग्रवाल ने जेल का भ्रमण भी किया।शिविर में संचालन सहायक जेल अधीक्षक आरएम उपाध्याय ने किया। आयोजन में लेखापाल राहुल चौरसिया, विवेकानन्द शर्मा का सहयोग रहा।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close