जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना संक्रमण के कारण हर दिन नया रिकार्ड बन रहा है। तीसरी लहर में एक दिन में सबसे ज्यादा 870 संक्रमित शनिवार को मिले। इसमें प्रशासन ने एक मौत भी होना बताया है जबकि कोरोना संक्रमित दो महिलाओं की मौत हुई है। दोनों शवों का कोरोना प्रोटाेकाल के तहत अंतिम संस्कार किया गया।

शहर में कोरोना संक्रमण थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। हर दिन मामले बढ़ रहे हैं इसके बावजूद लोग सुरक्षा के प्रति लापरवाह बने हुए हैं। बिना मास्क के सार्वजनिक स्थलों पर खुलेआम घूम रहे हैं। प्रशासन भी भीड़ को नियंत्रित करने पर असफल साबित हाे रही है देर रात तक लोग सड़कों पर चहल कदमी करते नजर आते हैं। प्रशासन के आकड़ों में शनिवार को 5140 मरीजों की जांच रिपोर्ट आई। इसमें एक की मौत के साथ सक्रिय मामले 4403 हो गए है। कोरोना से स्वस्थ्य होकर 489 मरीज घर पहुंचे है।

इनकी हुई मौत : कोरोना संक्रमण से ग्रसित दो महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई। महिला अन्य रोग से ग्रसित थी। इस दौरान कोरोना जांच में संक्रमण मिला। जिसके बाद उनकी मौत हुई। प्रशासन की तरफ से इस संबंध में कोई अधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

जानकारी के अनुसार भानतलैया निवासी 45 वर्षीय महिला की मौत मेडिकल कॉलेज में हुई है। महिला 20 जनवरी को लकवे की शिकायत के बाद भर्ती हुईं थीं। वे मधुमेह और मानसिक तनाव से भी पीड़ित थीं। उसकी उपचार के दौरान कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। शनिवार को महिला की मौत हो गई। मंडला जिले के बीजाडांडी निवासी 20 वर्षीय एक अन्य महिला की मौत भी मेडिकल कालेज में हुई। उसे भी करीब एक सप्ताह पूर्व प्रसव के लिए भर्ती किया गया था। इसकी भी कोरोना रिपोर्ट पाजीटिव थी। शनिवार को महिला ने दम तोड़ दिया। हालांकि प्रशासन इस मौत की पुष्टि नहीं की है। वहीं दोनों ही मृतकों का अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकॉल से मोक्ष संस्था द्वारा चौहानी मुक्तिधाम में किया गया।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local