जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मझगवां थाना क्षेत्र स्थित मेढ़े मंदिर के पास एक खेत में समर्सिबल पंप की लाइन सुधारते समय किसान को करंट लग गया। घटना होते ही किसान खेत में गिरकर छटपटाने लगा, जिसे कुछ देर बाद परिजन ने देखा और आनन-फानन में निजी वाहन से सिहोरा सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे। अस्पताल के डॉक्टरों ने जांच के बाद किसान प्रमोद यादव (38) को मृत घोषित कर दिया। अस्पताल प्रशासन की सूचना पर सिहोरा पुलिस पहुंची और जीरो पर मर्ग कायम कर केस डायरी मझगवां थाने ने भेज दी है।

मझगवां पुलिस ने बताया कि सुबह सात बजे के लगभग प्रमोद यादव निवासी मझगवां अपने घर से करीब एक किलोमीटर दूर मेढ़े मंदिर के पास स्थित खेत में पहुंचा। तब उसने पाया कि थ्री फेस बिजली लाइन चालू होने के बाद भी सबमर्सिबल पंप चालू नहीं हो रहा था। इसलिए प्रमोद ने सबमर्सिबल पंप की लाइन का कट सुधारने लगा। इसी दौरान किसान प्रमोद की उंगली बिजली प्रवाहित तार को छू गई और वह तेज झटका खाकर जमीन पर गिर पड़ा। प्रमोद के जमीन पर गिरते ही कुछ दूरी पर मौजूद उसके भाई लालचंद और रामकुमार ने देखा, तो उसका हाथ में थ्री फेस लाइन का चिपका था। यह नजारा देखते ही उनकी चीख निकल गई।

खेती किसानी और दूध बेचता था: ग्रामीणों के मुताबिक प्रमोद खेती किसानी के अलावा दूध बेचकर परिवार का खर्च चलता था। प्रमोद के घर में अब उसकी पत्नी मनीषा यादव और दो बच्चे प्रिंस (10) और आयु (7) रह गए हैं। इस घटना के बाद मनीषा का रो-रोकर बुरा हाल है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local