जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। फर्जी पत्रकारों की गैंग होटलों में छापामारी करती थी। मदनमहल थाने में उनके खिलाफ दर्ज हुई एक और एफआइआर में इसके आरोप लगाए गए हैं। गैंग के सदस्य स्वयं को बजरंग दल व क्राइम ब्रांच का कार्यकर्ता बताकर होटलों में अवैध वसूली करते थे।

होटलों में लूटपाट करने के इरादे से वे खाद्य सुरक्षा अधिकारी भी बन जाते थे। घटना के संबंध में महिला ने मदनमहल थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई है। मदनमहल थाना प्रभारी नीरज वर्मा ने बताया कि महिला पुराना बस स्टैंड स्थित सागर होटल में मैनेजर है। रात नौ से सुबह नौ बजे तक वह होटल में ड्यूटी पर रहती है। 3-4 जुलाई की दरम्यानी रात करीब 2.30 बजे फर्जी पत्रकार संतोष जैन, जेपी सिंह के नेतृत्व में अंकित श्रीवास्तव, बादल पटेल, देवेंद्र यादव, कोमल पटेल, बबला थोराट, प्रेम सिंह पटेल, अरुण गुप्ता, विवेक मिश्रा सागर होटल पहुंचे।

फर्जी पत्रकारों की गैंग ने होटल में ताबड़तोड़ अंदाज में दबिश दी। स्वयं को बजरंग दल का कार्यकर्ता व क्राइम ब्रांच का जवान बताकर महिला मैनेजर के साथ मारपीट कर बुरी नीयत से घूरने लगे। उन्होंने होटल के कमरों की तलाशी ली तथा मौजूद ग्राहकों से बदतमीजी की। ग्राहकों के साथ गालीगलौज करते हुए उनसे भी पैसों की मांग की गई।

होटल के दस्तावेज की जांच: महिला मैनेजर ने पूछा कि किस अधिकार से होटल में छापा मारा जा रहा है। तब फर्जी पत्रकारों की गैंग बजरंज दल कार्यकर्ता से क्राइम ब्रांच की पुलिस बन गई। गैंग के सदस्यों ने पुलिस के अंदाज में होटल के दस्तावेजों व ग्राहकाें के पहचान पत्रों की जांच की। जिसके बाद होटल में वेश्यावृत्ति के आरोप लगाकर पैसों की मांग की। महिला मैनेजर ने विरोध किया तो गैंग ने उसके साथ मारपीट कर अपशब्द कहे।

कुछ लोगों को फुड ऑफीसर बताया: फर्जी पत्रकारों की गैंग ने होटल में ब्लैकमेलिंग करने के लिए कुछ सदस्यों को फुड आफीसर बना दिया। उन्होंने महिला मैनेजर से कहा कि कार्रवाई में फुड ऑफीसर साथ में हैं। होटल में खाद्य पदार्थों की जांच करवाकर वे नई मुसीबत खड़ी कर देंगे। होटल में आग लगवाते हुए सांप्रदायिक दंगा करवा देंगे। होटल में तांडव मचाने के बाद गैंग के बदमाश भाग गए। महिला मैनेजर व होटल प्रबंधन ने डर की वजह से पुलिस में शिकायत नहीं की।

दर्ज हुई एफआइआर: मदनमहल पुलिस ने महिला मैनेजर की शिकायत पर गैंग के सदस्यों संतोष जैन, जेपी सिंह, देवेंद्र यादव, रवि बेन, विवेक मिश्रा, कोमल पटेल, प्रेम सिंह लोधी, बादल पटेल, बबला थोराट, अंकित श्रीवास्तव, अर्पित ठाकुर, शैलेंद्र गौतम व अन्य सहयोगियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की है। धारा 354 डी, 294, 327, 499, 500, 506, 147, 148, 109, 112, 114, 120 बी के तहत प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तारी की जा रही है। एएसपी शहर राेहित काशवानी ने बताया कि गैंग के खिलाफ मिलने वाली शिकायतों की जांच कर कार्रवाई की जा रही है।यह है मामला: शास्त्री नगर निवासी महिला व ग्वारीघाट निवासी युवक की शिकायत पर दोनों थानोें में फर्जी पत्रकारों की गैंग के खिलाफ पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत एफआइआर दर्ज की थी। प्रकरण में संतोष जैन, जेपी सिंह, पंकज गुप्ता, विवेक मिश्रा, अंकित श्रीवास्तव, बादल पटेल, कोमल पटेल, बबला थोराट व प्रेम सिंह लोधी को गिरफ्तार किया जा चुका है। फरार आरोपितों रवि बेन, अर्पित ठाकुर, शैलेंद्र गौतम, देवेंद्र यादव व अन्य की तलाश की जा रही है। फर्जी पत्रकारों की गैंग पर हिंदूवादी संगठन कार्यकर्ता, क्राइम ब्रांच पुलिस व फूड ऑफीसर बनकर लोगों को धमकाने व ब्लैकमेल करने का आरोप है।

--------------------------

पत्रकार, हिंदूवादी संगठन कार्यकर्ता, क्राइम ब्रांच पुलिस व फूड ऑफीसर बनकर लोगों को भयभीत कर वसूली के मामले में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कोर्ट से रिमांड लेकर पूछताछ की जा रही है। सोमवार को उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। गिरोह के खिलाफ मिलने वाली अन्य शिकायतों की जांच कर विधि अनुसार कार्रवाई की जा रही है। गैंग के नामजद व अन्य फरार आरोपितों को पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है।

सिद्धार्थ बहुगुणा, पुलिस अधीक्षक

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local