जबलपुर। हितकारिणी महिला महाविद्यालय के स्वरोजगार केंद्र के तत्वावधान में महाविद्यालय परिसर में स्वरोजगार मेले का आयोजन किया गया। मेले में छात्राओं ने हस्तनिर्मित राखी, चूड़ियां, तिरंगा, स्वदेसी तकनीक से निर्मित साबुन, सेनेटाइजर, फिनाइल, धूपबत्ती, दिया बाती, गोबर मिट्टी निर्मित दिए, होम मेड आचार, नमकीन, बिस्किट, मुरब्बा आदि का स्टाल लगाया। जिसे आगंतुकों ने सराहा। इस अवसर पर स्वामी विवेकानंद कैरियर स्कीम के संभागीय समन्वयक प्रो अरूण शुक्ला ने छात्राओं की सराहना करते हुए कहा कि हमारे नए विचार और आधुनिक सोच ही हमें रोजगार व स्वरोजगार दिला सकती है। कोई भी उद्योगपति या व्यापारी कोई अलग काम नहीं करता, बल्कि वह हर साधारण काम को असाधारण तरीके से करता है और उसका यही तरीका उसे अलग पहचान दिलाता है। गर्व की बात है कि पढ़ाई के साथ स्वरोजगार अपनाकर आज कई छात्राएं आत्मनिर्भर बन रही हैं। इस अवसर पर जबलपुर स्मार्ट सिटी के प्रशासनिक अधिकारी रवि राव, शैलजा सुल्लेरे, इनक्यूबेंशन सेंटर स्मार्ट सिटी के प्रभारी अग्रांषु द्विवेदी, प्राचार्य डा. नीलेश पांडे, संजय सिंह राठौर सहित स्टॉफ और विद्यार्थी उपस्थित रहे। इस अवसर पर हर घर तिरंगा अभियान के अंतर्गत स्मार्ट सिटी के साथ मिलकर मानव श्रंखला भी बनायी गयी।

निश्शुल्क स्वास्थ्य स्क्रीनिंग शिविर

भारतीय जनता पार्टी चिकित्सा प्रकोष्ठ "निशुल्क स्वास्थ्य स्क्रीनिंग शिविर" का आयोजन किया गया। यह शिविर प्रदेश संयोजक डा. अभिजीत देशमुख, जिला अध्यक्ष सुभाष रानु तिवारी के नेतृत्व में "स्वास्थ्य यात्रा" अंतर्गत त्रिपुर सुंदरी मंदिर तेवर भेड़घाट रोड में लगाया गया।

इस दौरान कोविड वैक्सीन, वृक्षारोपण किया गया। कार्यक्रम में जिला मंत्री रूपेश पटेल, अरविंद पाल सिंह, चिकित्सा प्रकोष्ठ चिकित्सक जिला संयोजक डा.नितिन दुबे, जिला सह संयोजक डा.अमित खरे, जिला मंत्री प्रभारी डा. सुभाष सराफ़, डा. पुष्पेंद्र शुक्ला, डा. आशीष नेमा, डा. कमलेश श्रीवास, डा. प्रमोद पटेल रवि पाठक, अभय मिश्रा मौजूद रहे।

चार सूत्रीय मांगों को लेकर पेंशनर्स एसोसिएशन का प्रदर्शन

जबलपुर। पेंशनर्स एसोसिएशन द्वारा सिविक सेंटर में प्रदर्शन करते हुए अपनी लंबित मांगों को पूरा करने की मांग की। उन्होंने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम एक मांत्र पत्र जारी कर संभागायुक्त को ज्ञापन दिया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के लगभग पांच लाख पेंशनर्स लंबे समय से संघर्षरत हैं। शासन द्वारा अभी तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया। इनमें राज्य के सेवा निवृत्त कर्मचारियों को भी प्रदेश के कर्मचारियों की तरह 34 फीसदी महंगाई भत्ता दिया जाए। वहीं छठवें वेतनमान के 32 माह का एरियर्स छह फीसदी की ब्याज दर से दिया जाए। सातवें वेतनमान के शेष 27 माह का एरियर्स भी राज्य के पेंशनर्स को दिया जाए। प्रदर्शन के दौरान एचपी उरमलिया, शेषमणि पांडेय, श्रीकांत पांडे, एमएल चौकसे, आरके चतुर्वेदी, मोहन अग्रवाल, विजय चौकसे, जीपी सराठे, बीपी अवस्थी, आरपी सिंह, बीके गुहा, अजीत तिवारी, एके अंसारी आदि मौजूद रहे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close