जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पति से परेशान होकर भेड़ाघाट पहुंची महिला ने आत्महत्या के इरादे से धुआंधार जलप्रपात में छलांग लगा दी। पानी की लहरों में वह गोते लगा रही थी, इसी बीच नाविकों ने अपनी जान पर खेलकर उसे नर्मदा से बाहर निकाला। जिसके बाद उसके शरीर में भरा पानी निकालकर जान बचाई।

दीक्षितपुरा की रहने वाली है महिला : प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि 46 वर्षीय महिला अपने पति व बच्चों के साथ दीक्षितपुरा में निवास करती है। बुधवार दोपहर वह घर से निकली थी। जिसके बाद बस पर सवार होकर भेड़ाघाट के धुआंधार पहुंची। धुआंधार जलप्रपात के पास महिला काफी देर तक इधर-उधर घूमती रही। लोग कुछ समझ पाते तब तक उसने नर्मदा में छलांग लगा दी। गनीमत रही कि महिला नदी में बह नहीं पाई बल्कि जलप्रपात के कारण चट्टानों के बीच पानी में घूमती रही। महिला द्वारा उठाए गए आत्मघाती कदम की सूचना भेड़ाघाट थाने के आरक्षक हरिओम सिंह बैस को दी गई। आनन-फानन में वे मौके पर पहुंचे। जिसके बाद नाविकों की मदद से महिला को नर्मदा से बाहर निकालने की कवायद शुरू हुई। नाविक अली खान चट्टानों के सहारे नीचे उतरा। इस दौरान अन्य नाविकों ने चट्टान पर खड़े रहकर बांस का सहारा दिया। बांस का डंडा पकड़कर अली खान ने महिला को नर्मदा से बाहर निकाला और उसकी जान बचाई। नर्मदा से बाहर निकालने के बाद महिला के स्वजन को घटना की सूचना दी गई। पुलिस ने बताया कि महिला के तीन बच्चे (दो बेटियां, एक बेटा) हैं। पति किसी दुकान में काम करता है। पारिवारिक मसलों को लेकर पति महिला को अक्सर प्रताडि़त करता था। जिससे तंग होकर उसने आत्महत्या का निर्णय लिया था।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local