जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कछपुरा में कोयले की डस्ट को एकत्रित कर रेल मंडल ने उसे बेचकर लाखों की आय अर्जित की है। बताया जा रहा है कि रेलवे में मालगाड़ियों की सफाई में कोयले की डस्ट निकलती है, जिसे एक स्थान पर एकत्रित किया जाता है।

700 टन है सामग्री : इस संबंध में वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक विश्व रंजन ने बताया कि कछपुरा रेलवे मालगोदाम में पिछले कई दिनों से मालगाड़ियां अनलोड हो रही थी। वहीं खाली रैक की सफाई में भारी मात्रा में कोल सहित ग्रेन का कचरा रेलवे ट्रैक के आसपास एकत्रित हो गया था। रेल प्रशासन ने इस एकत्रित सामग्री की अनुमानित मात्रा 700 टन होना बताया था।

नीलामी प्रक्रिया के तहत बेची डस्ट : इसके लिए खुले आक्शन की योजना बनाकर एक टीम के द्वारा इसे नीलाम कर दिया गया। रेलवे की अधिकारियों की टीम में मंडल वाणिज्य प्रबंधक देवेश सोनी वरिष्ठ सामग्री प्रबंधक नितिन तिवारी तथा सहायक वित्त प्रबंधक जीएस हल्देनिया के समक्ष 46 लोगों ने नीलामी में भाग लिया था। इसे रेलवे द्वारा निर्धारित दर से लगभग 21 प्रतिशत अधिक बोली लगा कर इसे क्रय कर लिया। उल्लेखनीय है कि इसके पहले भी रेलवे ने गोसलपुर में भी इसी तरह की नीलामी का आयोजन करके लगभग 17 लाख 80 हजार रुपये की सामग्री का विक्रय किया गया था। इस तरह रेलवे अनुपयोगी और रेलवे ट्रैक को नुकसान पहुंचाने ट्रैक पर पड़ी सामग्री की नीलामी करके बड़ी मात्रा में धन राशि रेल राजस्व में जमा किया जा रहा है। वहीं इसके खाली हुए स्थानों को भी बेहतर तरीके से उपयोग किया जा रहा है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local