जबलपुर,नईदुनिया प्रतिनिधि। भारत- तिब्बत सीमा पुलिस बल ने मदन महल में स्वच्छता कार्यक्रम व श्रमदान का आयोजन किया। समर बहादुर सिंह सेनानी 29वीं वाहिनी जमतरा कैंप, जबलपुर के 91 पदाधिकारियों ने मदन महल परिसर में गंदगी दूर कर दी। साथ ही जागृति प्रसारित की। श्रमदान करते समय भीषण गर्मी की भी परवाह नहीं की। यह अभियान इसलिए चलाया गया ताकि मदन महल किले में आने वाले पर्यटकों को कोई परेशानी न हो। धरोहर का संरक्षण होता रहे। विक्रम सिंह, उप सेनानी, जीडी द्वारा वाहिनी के पदाधिकारियों को संकल्प दिलाया गया कि मैं स्वयं स्वच्छता के लिए सजग रहूंगा। सप्ताह में कम से कम दो घंटे श्रमदान देकर स्वच्छता के इस संकल्प को चरितार्थ करूंगा।

आल इंडिया अमरकंटक ट्रैक कैंप में कैडेट ने लिया हिस्सा

आल इंडिया अमरकंटक ट्रैक प्रथम के कैंप कमाडंर कर्नल मकसूद अली खान के निदेशन में ब्रिगेडियर आर के छिकारा के मार्गदर्शन में 21 से 28 मई के बीच कैंप का आयोजन किया गया है, जिसमें मध्य प्रदेश के अलावा महाराष्ट्र, पंजाब, चंड़ीगढ़, हिमाचल, बिहार, झारखंड एवं राजस्थान राज्यों के निर्देशालयों से 510 कैडेट ने कैंप में हिस्सा लिया। कैडेट अपने-अपने गृह निवास से रेल मार्ग से पेंड्रा रोड अमरकंटक पहुंचे। यहां से उन्हें सड़क मार्ग से कैंप स्थल ले जाया गया। कैंप में आते ही कैडेट्स का उत्साह चरम पर था। सभी कैडेंट्स के दस्तावेजों की जांच और स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।इस दौरान डिप्टी कैंप कमाडेंट कर्नल शरद पाठक, प्रशिक्षण अधिकारी ले.कर्नल शशांक कुशवाहा,सूबेदार मेजर इंद्रजीत सिंह का विशेष सहयोग है।

साइंस कालेज के आठ विद्यार्थियों ने जीएसआइ से लिया प्रशिक्षण

शासकीय विज्ञान महाविद्यालय जबलपुर के भूगर्भशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डा.बीएस राठौर ने बताया कि शुक्रवार को वाडिया इंस्टीट्यूट आफ हिमालयन जियोलाजी से डिजर्टेशन-2022 में संस्था के तीन विद्यार्थियों का चयन किया गया है। देशभर से चयनित 27 विद्यार्थियों की सूची में विभाग के स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष में अध्ययनरत तीन विद्यार्थियों मदन साहू, मौलिक पांडे व नवनीत भालेकर हैं। डा.राठौर ने बताया कि हाल ही में विभाग के आठ विद्यार्थियों आयुषी पटेल, दीक्षित उके, गौतमी हारोडे, मदन साहू, मौलिक पांडेय, नवनीत भालेकर, संजय कुमार पटेल व श्वेता द्वारा देश में भूविज्ञान के लिए सर्वोच्च संस्था भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के फील्ड ट्रेनिंग सेंटर जीएसआइटीआइ एफटीसी रायपुर से सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा किया। इस प्रशिक्षण को पूर्ण करने के लिए भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण प्रशिक्षण संस्थान, हैदराबाद से जारी सर्टिफिकेट एफटीसी रायपुर द्वारा विद्यार्थियों को शुक्रवार को प्रदान किए गए।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close