जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में एक याचिका के जरिये अवगत कराया गया कि कटनी जिला प्रशासन ने बिना अधिग्रहण निजी जमीन पर सरकारी सड़क का निर्माण कर लिया है। न्यायमूर्ति संजय द्विवेदी की एकलपीठ ने कटनी कलेक्टर को निर्देश दिए कि नियमानुसार मामले की जांच कर जमीन लेने के बदले उसका उचित मुआवजा तय कर भुगतान करें। कोर्ट ने पूरी कार्रवाई करने के लिए कलेक्टर को दो माह की मोहलत दी है।

कटनी के बड़खेरा नीमखेड़ा में रहने वाले चम्मू लाल कुशवाहा, जीना काछी व संतोष कुशवाहा ने याचिका दायर कर बताया कि खसरा क्रमांक 550 व 574 में याचिकाकर्ताओं की कुछ निजी जमीन पर सड़क बना दी गई। याचिकाकर्ताओं की ओर से अधिवक्ता प्रमेन्द्र सेन ने बताया कि जमीन लेने के पहले अधिग्रहण की प्रक्रिया भी नहीं अपनाई गई। याचिकाकर्ताओं ने जमीन के बदले एसडीओ को आवेदन पेश कर मुआवजे की मांग की तो उन्होंने अन्यत्र शासकीय जमीन देने का वादा किया। इस पर याचिकाकर्ताओं ने कुछ दूरी पर स्थित सरकारी जमीन पर मकान बनवा लिया। जिला प्रशासन ने इसे तोड़ दिया। इसके बाद तहसीलदार के समक्ष मुआवजा के लिए आवेदन किया, लेकिन उस कोई निर्णय नहीं लिया गया। सुनवाई के बाद कोर्ट ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि याचिकाकर्ताओं को सुनवाई का अवसर प्रदान करते हुए मुआवजा देने पर निर्णय लें।

पत्नी को प्रताड़ित करने के आरोपित व प्रेमिका को जमानत नहीं :

सेशन कोर्ट ने पत्नी को प्रताड़ित कर आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपित पति व उसकी प्रेमिका को जमानत नहीं दी। अपर सत्र न्यायाधीश ज्योति सिंह टेकाम की अदालत ने आरोपितों के जमानत आवेदन निरस्त कर दोनों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा दिया।अभियोजन के मुताबिक मृतिका खुशबू मंसूरी का 2015 में आरोपित मुईन उर्फ मुईनुद्दीन मंसूरी के साथ प्रेम विवाह हुआ था। शादी के तीन साल बाद पति मुईन उर्फ मुईनुद्दीन मसूरी के रानू खान नाम की युवती से प्रेम संबंध की जानकारी होने पर पति-पत्नी में विवाद होने लगा। विरोध करने पर उसका पति मुईन उसके साथ मारपीट कर प्रताड़ित करता था। फरवरी, 2022 में नर्मदा जैक्सन होटल में तथा घटना के एक दिन पूर्व पांच जून, 2022 को शीशा होटल में मृतिका के पति मुईन तथा रानू खान ने मृतिका के साथ मारपीट की थी। प्रताड़ना से परेशान होकर खुशबू ने ससुराल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जांच के बाद आरोपित पति मुईन उर्फ मुईनुद्दीन मंसूरी व रानू खान के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया गया।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close