जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आयकर विभाग ने मध्यप्रदेश में खनन और शराब का कारोबार करने वाले एक समूह पर छापे की कार्रवाई के बाद जब्त किए दस्तावेजों के जांच पूरी कर ली है। जांच के दौरान विभाग को मौके से जब्त दस्तावेज, फाइल और कंप्यूटर हार्ड डिस्क को खंगालने के बाद लगभग नौ करोड़ से अधिक की काली कमाई मिली है। आयकर विभाग को जांच के दौरान कई ऐसे दस्तावेज मिले, जिसमें फर्जी जानकारी लिखकर, कर चोरी से जुड़ी बातों को छुपाया गया है।

आयकर विभाग ने जांच के बाद सौंपी रिपोर्ट में कहा है कि एमपी में खनन, शराब और रेत का काम करने वाली कम्पनी पर छापे के बाद नौ करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित संपत्ति जब्त की है। विभाग ने 14 जुलाई को मध्य प्रदेश और मुंबई में स्थित समूह के परिसरों में कार्रवाई शुरू की थी। जांच में रेत खनन व्यवसाय के जब्त किए गए आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि समूह खाते की नियमित किताबों में बिक्री दर्ज नहीं करके कर चोरी की गई। विभाग ने अपने बयान में इस समूह का नाम तो नहीं बताया है, लेकिन इतना कहा है कि यह समूह मध्यप्रदेश में एक राजनीतिक नेता से जुड़ा हुआ है। विभाग ने बेहिसाब बिक्री पर रायल्टी का भुगतान न करने का भी पता लगाया है। वहीं समूह द्वारा अन्य व्यावसायिक सहयोगियों को 10 करोड़ रुपये से अधिक की राशि का भुगतान नकद में किया गया है, जो कि खाते की नियमित पुस्तकों से बाहर है।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close