जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना संक्रमण सहित अन्य बीमारियों से लोगों की असमय मौत के चलते अंतिम संस्कार कराना भी मुश्किल हो गया है। कहीं समय पर शव वाहन नहीं मिल रहे तो कहीं अस्पतालों में शवों को बंधक बनाया जा रहा है। हाल ही में ऐसे कई मामले भी सामने आ चुके। जिसमें मृत मरीजों के स्वजन और अस्पताल प्रबंधक के बीच शव देने को लेकर मारपीट तक की नौबत आ गई। पुलिस और प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद शवों को छुड़ाकर अंत्येष्टि कराई गई। लिहाजा अंतिम संस्कारों से जुड़ी समस्याओं का निराकरण करने के लिए नगर निगम और जिला प्रशासन ने एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया। पीड़ित परिवार अंतिम संस्कार में आ रही समस्याएं नोडल अधिकारी के मोबाइल नंबर पर कॉल कर बता सकते हैं। उनकी समस्याओं का निराकरण जल्द किया जाएगा।

9926079418 पर करें कॉल : पीड़ित परिवारों की समस्याओं का निराकरण करने के लिए निगमायुक्त संदीप जीआर द्वारा नगर निगम के सहायक आयुक्त प्रफुल्ल गठरे को नोडल अधिकारी नियुक्त कर जिम्मेदारी सौंपी है। साथ ही सहायक आयुक्त गठरे को आवश्यक दिशा निर्देश भी जारी किए हैं। पीड़ित परिवार अंतिम संस्कार में आ रही समस्याओं के समाधान के लिए नोडल अधिकारी के मोबाइल नंबर 9926079418 पर कॉल कर सकते हैं।

शमशान घाट में जगह नहीं : कोरोना संक्रमण व अन्य बीमारियों से हो रही मौत के चलते गढ़ा स्थित चौहानी शमशान घाट में पहले की तुलना में ज्यादा अंत्येष्टि हो रही है। कभी 20 से कभी 25 शव अंत्येष्टि के लिए पहुंच रहे हैं। ऐसे में कई बार विवाद के स्थितियां भी निर्मित हो रही है। वहीं अस्पतालों में भी गलत उपचार के आरोप लगाते हुए फीस न चुकाने पर अस्पताल प्रबंधक पर शव न देने के आरोप लगाए जा रहे हैं।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags