जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना महामारी का खतरा बीते 11 दिनों में बढ़ा है। इस दौरान नए मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है। दरअसल, 9 फरवरी से 19 फरवरी के बीच कोरोना से संक्रमित 27 नए मरीज सामने आए थे तथा आइसोलेशन में भर्ती 185 लोग संक्रमण से मुक्त होकर घर पहुंचे थे। इसके विपरीत 20 फरवरी से 2 मार्च के बीच कोरोना के 159 नए मरीज मिले तथा संक्रमण मुक्त होने पर 166 लोगों को अस्पतालों से छुट्टी दी गई। इस प्रकार 11 दिनों में करुणा से संक्रमित 26 मरीज ज्यादा मिले तथा संक्रमण से मुक्त होने वाले मरीजों की संख्या में 19 की कमी आई। इधर, बुधवार को 24 घंटे के भीतर कोरोना से संक्रमित 27 नए मरीज मिले तथा संक्रमण मुक्त होने पर 17 लोगों को आइसोलेशन से छुट्टी दी गई। चिकित्सकों का कहना है कि देश के कई शहरों में कोरोना महामारी ने पलटवार किया है। इसलिए लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। कोरोना से बचाव का एकमात्र उपाय टीकाकरण है।

इस तरह समझें खतरा: नौ फरवरी से 19 फरवरी के बीच कोरोना के 128 नए मरीज मिले। जिसमें 10 मरीज नौ फरवरी को, 11 मरीज 10 फरवरी को तथा इसी प्रकार क्रमश: 11, 16, 16, 9, 19, 12, 10, सात और 19 फरवरी को सात मरीज सामने आए। वहीं इस अवधि में यानि नौ से 19 फरवरी के बीच क्रमश: 15, 17, 20, 23, 17, 18, 20, 17, 14, 10 और 14 मरीज आइसोलेशन से मुक्त हुए। इसके बाद अगले 11 दिन कोरोना संक्रमण के लिए संवेदनशील रहे। 20 फरवरी से 2 मार्च के बीच क्रमश: 17, 13, नौ, 14 22, 18, 11, 11, 10, 18 और 16 नए मरीज सामने आए। इस अवधि में क्रमश: 20, 16, 14, 15, 23, 14, 13, 14, 15, 12 और 10 मरीजों को आइसोलेशन से छुट्टी दी गई।

सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ी: कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 134 हो गई है। मंगलवार को यह संख्या 124 तथा सोमवार को 118 थी। 48 घंटे के भीतर 16 सक्रिय मरीज बढ़ गए हैं। आंकड़ों से अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोरोना को लेकर बरती जा रही लापरवाही भारी पड़ सकती है। बुधवार को जिले में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 16 हजार 709 पहुंच गई जिसमें 16 हजार 323 स्वस्थ हो चुके हैं। नए मरीज ज्यादा मिलने के कारण कोरोना से रिकवरी की दर घटकर 97.68 फीसद पहुंच गई। बुधवार को 937 सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त हुई तथा 947 संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए। जिले में अब तक 252 मरीजों की मौत हो चुकी है।

--------------

देश के कई शहरों में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़़ा है इसलिए नागरिकों को ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। शारीरिक दूरी, मास्क, सेनीटाइजर का उपयोग और बार-बार हाथ धोने से संक्रमण से बचा जा सकता है। टीकाकरण कोरोना से बचाव का सबसे सशक्त उपाय है।

डॉ. मनीष मिश्रा, जिला टीकाकरण अधिकारी

फैक्ट फाइल

कुल संक्रमित-16709

स्वस्थ हुए-16323

सक्रिय मरीज-134

मृत्यु-252

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags