जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मंदबुद्धि पिता ने हसिया से हमला कर अपनी चार साल की बेटी कुमकुम का गला रेत दिया। इस हमले में उसकी सांस की नली कट गई। उसे गंभीर हालत में नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां नाक कान गला रोग विभाग के चिकित्सकों ने अस्थायी तौर पर सांस की नली लगाते हुए उसकी जान बचाई। बालिका को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में स्थानांतरित किया जा रहा है, जहां सांस की नली जोड़ने के लिए ऑपरेशन किया जाएगा। बताया जाता है कि बालिका का पिता मानसिक रूप से कमजोर है। जानकारी के अनुसार पाटा सिहोरा गांव पिंडरई मंडला निवासी चार साल की कुमकुम गुरुवार रात करीब 12 बजे घर में सो रही थी। जिसके बाद हुआ अचानक चीखने चिल्लाने लगी घर में सो रहे अन्य सदस्यों की आंख खुली तो पिता रक्तरंजित हसिया लिए कुमकुम के पास खड़ा मिला। जिस बिस्तर पर कुमकुम सो रही थी वह खून से सन गया था। स्वजन रात में ही उसे लेकर सरकारी अस्पताल पहुंचे जहां से मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया।

वैकल्पिक श्वास नली लगाई : नाक कान गला रोग विभागाध्यक्ष डॉ कविता सचदेवा ने बताया कि कुमकुम को गंभीर हालत में मेडिकल लाया गया था। हसिया के वार से उसकी सांस नली कट चुकी थी। वैकल्पिक स्वास नली लगाते हुए कुमकुम को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल भेजा जा रहा है ताकि सांस नली को जोड़ने के लिए ऑपरेशन किया जा सके। उन्होंने बताया कि नाक कान गला रोग विभाग के ऑपरेशन थिएटर में ब्लैक फंगस मरीजों के ऑपरेशन किए जा रहे हैं, इसलिए कुमकुम को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल रेफर करना पड़ रहा है।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags