जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। लखनादौन से अंग्रेजी शराब की खेप लेकर जबलपुर आ रहे माफिया पुलिस की घेराबंदी तोड़कर भागने में कामयाब रहे। माफिया कार में सवार थे तथा शराब की खेप मिनी ट्रक के भीतर धान की भूसी से भरी बोरियों में छिपाकर रखी गई थी।

सड़क पर स्टापर लगाकर पुलिस ने मिनी ट्रक को रोक लिया परंतु कार से रेकी करने वाले माफिया भाग गए। घटना बरगी थाना क्षेत्र की है। बरगी थाना प्रभारी रीतेश कुमार पांडेय ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि मिनी ट्रक एमपी 19 जीए 4606 में शराब का अवैध परिवहन किया जा रहा है। मिनी ट्रक में धान की भूसी लोड है। भूसी से भरी बोरियों के बीच बड़ी मात्रा में अंग्रेजी शराब की पेटियां छिपाकर रखी गई हैं। वरिष्ठ अधिकारियों को घटना की जानकारी देकर बरगी-जबलपुर मार्ग सुकरी तिराहा के पास स्टापर लगाकर घेराबंदी शुरू की गई।

ट्रक के पीछे कार में सवार थे माफिया: थाना प्रभारी ने बताया कि मुखबिर की सूचना सही निकली। संबंधित नंबर का मिनी ट्रक लखनादौन की तरफ से पहुंचा। कार में सवार शराब माफिया दो कारों में सवार होकर पीछे से ट्रक की रेकी कर रहे थे। पुलिस की घेराबंदी देखकर माफिया ने कार मोड़ दी और लखनादौन की तरफ भाग गए। मिनी ट्रक को रोककर उसकी तलाशी ली गई तो भूसे की बोरियों के बीच अंग्रेजी शराब की 165 पेटियां मिलीं। पेटियों में विभिन्न कंपनी की 144 बोतल व 6 हजार 430 पाव शराब भरी थी। ट्रक चालक अमित पोरिया 27 वर्ष निवासी चांदमारी पहाड़ी घमापुर एवं ट्रक में सवार होकर पहुंचे अश्वनी पटेल 19 वर्ष निवासी ग्राम चौखड़ा गौर बरेला को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। शराब के परिवहन से संबंधित दस्तावेज वे पेश नहीं कर पाए।

लखनादौन से लोड की थी पेटियां: पुलिस ने अमित व अश्वनी से कड़ी पूछताछ की। उन्होंने बताया कि शराब की पेटियां लखनौदान के आगे से लोड कराई गई थीं। जबलपुर में निर्धारित जगह तक पेटियों को पहुंचाने के लिए उसे किराया मिलना था। शराब की पेटियां लोड कराने के बाद छोटू माली निवासी बरगी बाइपास, मोंटी शुक्ला निवासी चांदमारी पहाड़ी घमापुर, हर्षित यादव निवासी चांदमारी घमापुर, हर्षित पटेल निवासी चौखड़ा बरेला कार में सवार होकर रेकी कर रहे थे।

हो सकता है बड़ा खुलासा: थाना प्रभारी ने बताया कि पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर शराब व अन्य मादक पदार्थों के अवैध कारोबार के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शिवेश सिंह बघेल, सीएसपी अशोक तिवारी द्वारा तस्करों को पकड़ने के लिए पृथक से पुलिस टीम का गठन किया गया है। लखनादौन से तस्करी कर लाई गई शराब के मामले में सूक्ष्म विवेचना की जा रही है। शराब तस्करी को लेकर जांच में बड़ा खुलासा हो सकता है। प्रकरण में एएसआइ रवि सिंह परिहार, आरक्षक अनिल सनोडिया, इंद्र कुमार विश्वास, बसंत मेहरा, अनुज बघेल की भूमिका रही।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local