जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मझगवां, खितौला व मझौली के फड़बाजों ने गौरहा के जंगल में जुआ फड़ खोल दिया था। जबलपुर व कटनी के जुआरी तीन दिन से जंगल में ठिकाना बदल बदलकर जुआ खेल रहे थे। मुखबिर की सूचना पर सिहोरा पुलिस ने जंगल में दबिश देकर पांच जुआरियों को गिरफ्तार कर लिया। फड़ में दांव पर लगे 31 हजार 750 रुपये नकद, पांच मोबाइल व एक मोटरसाइकिल जब्त किया गया है।

फरार तीनों फड़बाजों की तलाश की जा रही है। तीनों फड़बाज प्रत्येक जुआरी के हिसाब से नाल काटते थे। सिहोरा एसडीओपी श्रुत कीर्ति सोमवंशी ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि ग्राम गौरहा के जंगल में तालाब के पास कुछ व्यक्ति मोमबत्ती की रोशनी में जुआ खेल रहे हैं। पुलिस टीम ने दबिश दी जहां जुआरियों में भगदड़ मच गई। घेराबंदी कर अरुण राय निवासी सिलौडी़ ढीमरखेडा़ कटनी, कृष्ण कुमार चौरसिया निवासी उमरिया पान कटनी, मन जैन निवासी बडा़ फुहारा कोतवाली, बबुआ उर्फ बब्बू यादव निवासी ग्वारीघाट मार्ग रामपुर, प्रमोद चंदेलिया निवासी खमरिया को पकड़ा गया।

पांचों मोमबत्ती की रोशनी में हार जीत का दांव लगा रहे थे। गिरफ्त में आए जुआरी अरुण राय ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि तीन दिन से गौरहा के जंगल में अलग-अलग ठिकानों पर जुआ फड़ संचालित किया जा रहा है। आलोक गुप्ता निवासी मझगवाा, अकबर मंसूरी निवासी खितौला तथा भूरा साहू निवासी मझौली जुआ फड़ चलाते हैं जो प्रत्येक जुआरी के हिसाब से नाल की रकम लेते हैं। तीनों जुआरियों को भी खुद ही बुलाते हैं। पांचों जुआरियों समेत फड़बाज आलोक गुप्ता, अकबर मंसूरी एवं भूरा साहू के विरुद्ध धारा 13 जुआ एक्ट एवं 109 के तहत एफआइआर दर्ज की गई है। फरार फड़बाजों की तलाश की जा रही है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local