जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ड्रोन हादसे ने लोगों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं। शहर में इन दिनों यह हाल है कि ड्रोन और इसे उड़ाने वालों को इससे जुड़े सुरक्षा नियम और कानून की जानकारी ही नहीं है। जिन्हें है तो वे सिर्फ कागजों पर खानापूर्ति कर रहे हैं जबकि केंद्र सरकार ने ड्राेन और उसके उपयोग के लिए पूरी नियमावली तय की है।

शादी-विवाह से लेकर शासकीय आयोजनों के दौरान ड्रोन का उपयोग बढ़ा है लेकिन ड्रोन उड़ाने वाले अधिकांश लोगों को यह तक पता नहीं है कि इसके उपयोग से पहले उन्हें पुलिस और प्रशासन की स्वीकृति लेना अनिवार्य है। वे सिर्फ आयोजनों में ड्रोन उड़ाने की फीस लेने के बाद अपना काम शुरू कर देते हैं जबकि लोगों के सिर पर मड़राते ड्रोन के अनियंत्रित होने से उनकी जान तक जा सकती है।

क्या कहते हैं नियम: केंद्र सरकार ने 25 अगस्त 2021 को ड्रोन से संबंधित नियमावली जारी की, जिसमें न सिर्फ ड्रोन को उड़ाने और खरीदने से नियम बताए गए बल्कि इसकी ऊंचाई, रफ्तार और वजन की भी जानकारी दी। इसमें स्पष्ट कहा है कि ड्रोन से हुई दुर्घटना के 48 घंटे के अंदर ड्रोन पायलट डिजिटल स्काई प्लेटफार्म के जरिए महानिदेशक को आवश्यक रूप से जानकारी देगा। ड्रोन नियमावली के मुताबिक तय मापदंड को पूरा करने के बाद ही ड्रोन उड़ाने की स्वीकृति दी जाएगी। रेड जोन में ड्रोन उड़ाने की अनुमति पुलिस और प्रशासन से होना अनिवार्य है।

प्रशिक्षण लिए बिना उड़ रहे ड्रोन: ड्रोन के लिए बनाई गई नियमावाली में यह बताया गया है कि ड्रोन से खतरनाक माल का परिवहन नहीं किया जा सकता। जबकि गणतंत्र दिवस के मुख्य आयोजन के दौरान जो ड्रोन उड़ रहा थाए उसमें पांच लीटर की टंकी में पानी भी था। हालांकि उसमें पानी थाए लेकिन इसमें पेट्रोल और डीजल का परिवहन आसानी से किया जा सकता है। नियमावली के मुताबिक किसी व्यक्ति या संपत्ति को खतरा होने पर ड्रोन उसके ऊपर से नहीं उड़ा सकते हैं।

सावधानी जरूरी: ड्रोन उड़ने के दौरान न सिर्फ ड्रोन उड़ाने वाले को सावधानी रखना होती है बल्कि ड्रोन के आस.पास रहने वाले को भी सावधान रहना जरूरी है। ड्रोन का उपयोग करने वाले जानकारों का कहना है कि ड्रोन उड़ते वक्त ड्रोन से दूरी होना जरूरी है। संभव हो तो ड्रोन के नीचे न आएं। ड्रोन उड़ाने वाले से संभव हो तो बातचीत न करें। इससे उसका ध्यान भटक सकता है। ड्रोन उड़ाने वाले से उसका प्रशिक्षण प्रमाण पत्र देखने के साथ पुलिस और प्रशासन से ली गई स्वीकृति के पत्र को भी जरूर देखें।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local