जबलपुर, नईदुनिया रिपोर्टर। वट का एक पौधा लगाएं आक्सीजन का वरदान पाएं। बरगद का वृक्ष हमारा राष्ट्रीय वृक्ष है और ये पूरे वर्ष भर आक्सीजन देता है। कोरोना के दौरान सभी को शुद्ध आक्सीजन का महत्व समझ में आ गया है। यही वजह है कि बरगद के वृक्ष की मानव जीवन को स्वस्थ रखने में क्या भूमिका है यह भी पता चल गया है। यही वजह है कि वट सावित्री व्रत के अवसर पर नईदुनिया के अभियान वट वृक्ष दे वरदान का आयोजन किया जा रहा है। नईदुनिया के इस अभियान के साथ शहर की कई सामाजिक, शैक्षणिक संस्थाएं आगे आईं और बरगद के पौधे का रोपण कर उसके संरक्षण का भी संकल्प लिया।

राधा कृष्ण संध्या मंडली के सदस्यों ने रोपे 101 पौधे : नईदुनिया के अभियान से जुड़ते हुए राधा कृष्ण संध्या मंडली ने 101 पौधों का रोपण किया। जिसमें नीम, पीपल, बरगद, जामुन, आम आदि के पौधे शामिल रहे। अध्यक्ष रिया दुबे ने बताया कि हम अपने नगर में लोगों को पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी दे रहे हैं। साथ ही मंडली की मुख्य सचिव श्रेया सिंह बघेल ने नईदुनिया के कार्यक्रम को आयोजित किया। लेखक शशांक ने नईदुनिया के अभियान से लोगों को जोड़ते हुए नईदुनिया समाचार की ओर से मास्क व सैनिटाइजर का वितरण भी किया। शारीरिक दूरी के साथ भजन संध्या कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। कार्यक्रम पर अध्यक्ष रिया दुबे, श्रेया सिंह बघेल, राष्ट्रीय लेखक शशांक, शैफाली पटेल, वंशिका मिश्रा ,रानू पटेल, मधु कुशवाहा, शैला, ओमप्रकाश महावर आदि की उपस्थिति रही।

अन्य स्थानों पर भी हुआ पौधारोपण : नईदुनिया के वट वृक्ष दे अभियान से जुड़कर बारिश के पहले लोगों ने बरगद के साथ-साथ अन्य पौधों का भी रोपण किया। जिसमें रांझी में समाजसेवी सोनू सुधीर दुबे ने बरगद के पौधे को रोपा और साथ ही प्रण किया कि वे इस पौधे का संरक्षण हमेशा करेंगे। इसी तरह दुर्गा मंदिर धनवंतरि नगर में बरगद का पौधा रोपा गया। अंगद फाउंडेशन के जीतू कटारे ने भी बरगद का पौधा रोपा। इसके साथ ही एपी कॉलोनी विश्वविद्यालय रोड पर डॉ. जितेंद्र जामदार, अजय बघेल, संजय दुल्हानी, सुशील वैद्य, घनश्याम पंचम ने मिलकर बरगद का पौधा रोपा और उसकी देखरेख करने की जिम्मेदारी भी उठाई।

ग्वारीघाट मंदिर प्रांगण में रोपा बरगद का पौधा : ग्वारीघाट मंदिर प्रांगण में श्याम दुबे व अनुभा शर्मा ने बरगद का पौधा रोपा। सदस्यों ने बताया कि बरगद का धार्मिक महत्व तो है ही साथ ही इसमें ढेरों औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। इसलिए जरूरी है कि बरगद के पौधे का रोपण किया जाए। नईदुनिया का यह अभियान बहुत सराहनीय है। इस अवसर पर दीपमाला यादव, दीपक यादव व अन्य सदस्य मौजूद रहे।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags