जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जनरल की टिकट लेकर ट्रेन के स्लीपर और एसपी कोच में आराम फरमाने वालों की रेलवे ने गुरुवार जमकर क्लास ली। जबलपुर रेल मंडल के डीसीएम मनोज गुप्ता और उनकी टीम सुबह तकरीबन 5 बजे बस से सिहोरा स्टेशन के लिए रवाना हुई। यहां पहुंचते ही रेलवे स्टेशन की घेराबंदी की फिर ट्रेनों को स्पेशल परमिशन से रोका गया। इसके बाद चेकिंग स्टॉफ ट्रेन के दोनों ओर के प्रवेशद्वार से चढ़ा और कोच में टिकट चेकिंग शुरू कर दी। बिना टिकट यात्रा करने वाले पैसेंजर ट्रेन से नीचे उतर गए और स्टेशन के जनरल टिकट काउंटर की कतार पर खड़े हो गए और टिकट लेने लगे। जो काउंटर तक नहीं पहुंचे, उन्हें रेलवे को जुर्माना चुकाना पड़ा।

पैसेंजर से वसूला जुर्माना

चेकिंग के दौरान ट्रेन नंबर 18233, 51071, 22182, 12182, 51071, 19809 समेत 11 ट्रेनों को चेक किया। इस दौरान 61 पैसेंजर बिना टिकट यात्रा करते मिले। जब इनसे कारण पूछा तो किसी ने जल्दबाजी में ट्रेन में चढ़ने का कारण बताया तो एक पैसेंजर ने यहां तक कह दिया कि उसने टिकट तो ली थी, लेकिन टॉयलेट में गिर गई।

कटनी स्टेशन को घेरा

डीसीएम मनोज गुप्ता सिहोरा स्टेशन के बाद कटनी स्टेशन पहुंचे। चेकिंग की एक टीम जबलपुर से कटनी स्टेशन के लिए रवाना हुई। उन्होंने स्टेशन के सभी प्रवेश द्वार पर चेकिंग स्टॉफ को खड़ा कर दिया। जनरल की टिकट लेकर स्लीपर और एससी कोच में सफर करने वाले 217 पैसेंजर मिले, जिनसे 1 लाख 71 हजार का जुर्माना वसूला गया।