जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

मुख्य रेलवे स्टेशन पर दोपहर तकरीबन 12 बजे, जीआरपी और आरपीएफ के जवान घूम रहे थे। कोई पैसेंजर से पूछताछ कर रहा था तो कोई सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करता जा रहा है। दरअसल जीआरपी एसपी विनीत जैन गुरुवार को अचानक जीआरपी थाने पहुंचे और स्टॉफ को तत्काल स्टेशन चलने कहा। उन्होंने प्लेटफार्म 1 से लेकर 6 तक का निरीक्षण किया। उनके आने की खबर न होने के कारण कई जवान आराम फरमा रहे थे। इस दौरान जीआरपी के 8 जवान ड्यूटी से गायब मिले। एसपी ने उन्हें स्टेशन पर न पाकर अधिकारियों को फटकार लगाई। वहीं ड्यूटी पर रहे जवानों के हाथ में डंडा न होने से भी वे नाराज हुए। एसपी ने उन्हें 24 घंटे अलर्ट रहकर ड्यूटी करने और हमेशा हाथ में डंडे रखने की हिदायत दी।

अतिरिक्त स्टॉफ बढ़ाया

शहर में चल रही सेना की भर्ती, रेलवे के एग्जाम और 6 दिसम्बर को देखते हुए एसपी ने अचानक ही रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया, जिसमें जीआरपी की लापरवाही सामने आई। उन्हें सुरक्षा व्यवस्था में कई खामियां भी मिली, जिसे तत्काल दूर करने के निर्देश दिए। पिछली बार सेना की भर्ती में उम्मीदवारों ने उत्पात मचा दिया, जिससे सबक लेकर स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। आरपीएफ ने भी आरपीएफ के जवानों को स्टेशन पर तैनात कर दिया है।

सुस्त चाल, चल रहा था आराम

अचानक जीआरपी थाने आए एसपी को देख, थाना प्रभारी और अन्य जवानों में हड़कंप मच गया। दरअसल अक्सर थाने में तैनात जीआरपी के जवान ड्यूटी करने की बजाए थाने के बाहर चाय की दुकान में आराम फरमाते मिलते हैं। यही हाल रेलवे स्टेशन पर तैनात जवानों का है। एसपी ने इन जवानों को ड्यूटी पर लापरवाही न करने और अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।

डीआरएम ने किया निरीक्षण

दूसरी ओर जबलपुर रेल मंडल के डीआरएम मनोजसिंह ने भी स्टेशन का निरीक्षण किया। उन्होंने भीड़ को देखते हुए स्टेशन पर सुविधाओं को बढ़ाने कहा।