जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

ट्रेन के स्लीपर कोच में आराम फरमा रहे पैसेंजर का सफर, उस वक्त खराब हो गया जब अचानक उनके पास रेलवे की टिकट चेकिंग टीम पहुंच गई। सीट ने पैसेंजर से जैसे ही टिकट मांगी वे गोल-मोल जवाब देने लगे। वहीं, बिना टिकट यात्रा कर रहे कई यात्री भागकर बाथरूम में छिप गए। लेकिन जांच टीम ने यहां भी उनका पीछा नहीं छोड़ा। टीम जुर्माना वसूलकर ही मानी। जांच के दौरान टीम ने स्टेशन पर रिश्तेदारों को छोड़ने आए लोगों से प्लेटफार्म टिकट मांगी, तो वे बहाने बनाने लगे। इनसे भी जुर्माना वसूला गया।

इन दिनों जबलपुर रेल मंडल के कमर्शियल विभाग के डीसीएम मनोज गुप्ता के निर्देशन में ट्रेनों में बिना टिकट यात्रा करने वालों से न सिर्फ जुर्माना वसूला जा रहा हैं, बल्कि उन्हें बिना टिकट यात्रा न करने की सलाह भी दे रहे हैं।

26 पैसेंजर के पास नहीं मिली टिकट

टिकट चेकिंग स्क्वॉड ने मैहर और सतना स्टेशन की घेराबंदी कर टिकट चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान जबलपुर से सतना के बीच ट्रेनों में बिना टिकट सफर करने वालों को भी पकड़ा गया। जांच के दौरान 26 पैसेंजर के पास टिकट नहीं मिली।

128 पैसेंजर से वसूला 75 हजार जुर्माना

टीम ने ट्रेन नंबर 51701, 11071, 11062, 11466, 12150, 13201 और 12361 में जांच की। इसमें 128 पैसेंजर बिना टिकट यात्रा करते मिले। जिनसे तकरीबन 75 हजार जुर्माना वसूला गया। वहीं स्टेशन की जांच के दौरान प्लेटफार्म पर बिना टिकट घूम रहे लोगों से भी 25 हजार रुपए का जुर्माना वसूल किया गया। अनाधिकृत और बिना बुक किया पार्सल ले जाने वालों से भी तकरीबन 50 हजार रुपए का जुर्माना लिया गया।