जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर में इन दिनों चार पहिया वाहनों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके साथ ही लोगों के पास इन्हें रखने की जगह भी कम पड़ रही है लेकिन शौकीन पार्किंग की जगह के बिना ही वाहन ले तो लेते हैं लेकिन उन्हें सड़कों पर ही खड़े करते हैं। ऐसा ही देखने मिल रहा है नए बने चौथे पुल में। जहां रेलवे व नगर निगम द्वारा करोड़ों रुपए खर्च कर नया अंडरब्रिज बनाया गया है। यह यातायात के दबाव को कम करने के लिए बनाया गया है लेकिन इसके अंदर कुछ लोगों द्वारा अपने निजी वाहन खड़े किए जाने लगे हैं जिनके खिलाफ न तो नगर निगम कार्रवाई कर रहा है और न ही रेल प्रशासन। यहां कारों को धूप और पानी से बचाने दिन से लेकर पूरी रात पार्क किया जा रहा है।

विगत वर्ष लगभग 3 करोड़ 50 लाख रुपए की लागत से पुल नंबर 4 के बगल से ही नया अंडरब्रिज रेलवे ने तैयार किया था। इसके लिए नगर निगम ने यह राशि रेलवे को दी थी जिसके बाद रेलवे के इंजीनियरों ने महज तीन दिन में ही अंडरब्रिज तैयार कर दिया था। दरअसल रसल चौक से चौथा पुल, कटंगा-गोरखपुर से चौथा पुल, तीसरे पुल की तरफ से चौथा पुल और सदर से चौथा पुल आने वाले वाहनों की वजह से यहां लम्बा जाम लगता था। जिसके कारण इस पुल की चौड़ाई बढ़ाने की जरूरत महसूस होने लगी थी, लेकिन इसमें कई पेंच थे जिसके कारण इसके बगल में नया अंडरब्रिज निर्माण कराया गया। इसमें अतिक्रमण हटाने, सड़क बनाने का कार्य नगर निगम के जिम्मे था जबकि अंडरब्रिज बनाने का कार्य रेलवे ने खुद किया। अब जबकि अंडरब्रिज बनकर तैयार है और वाहनों का जाम भी कम लग रहा है तो इसके अंदर वाहन पार्क होने लगे हैं। जिनपर नगर निगम कार्रवाई नहीं कर रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network