जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ, उपशाखा जबलपुर-सागर ने रेलवे पर पक्षपात का आरोप लगाया है। संघ का आरोप है कि पश्चिम मध्य रेल द्वारा कुल 3 हजार 525 पद के लिए 2018 में भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई थी इसमें भारत सरकार एक्ट 2016 के प्रावधानों के अनुसार 1 प्रतिशत आरक्षण दृष्टिबाधितों के लिए निर्धारित किया गया है। इस भर्ती में 35 पद दृष्टिबाधितों के लिए आरक्षित थे, लेकिन जबलपुर में केवल एक ही पद पर नियुक्ति की कार्रवाई की गई है। जबकि शेष 34 पदों को विलोपित करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके खिलाफ सभी दृष्टिबाधित एक जुट हो गए हैं और आने वाले दिनों में पैदल मार्च निकालकर रेल जीएम कार्यालय में प्रदर्शन किया जाएगा। यह घोषणा राष्ट्रीय युवा सचिव चंद्रपाल मौर्य, सुधांशु मंडल, कृष्ण कुमार चौरे, अवधेश विश्वकर्मा, बसंत पटेल, शिवेन्द्र सिंह परिहार, सोनू अहिरवार, सफलता कार्तिक, बरकत्तुला अंसारी, अखिलेश उईके, रोहित पांडे, प्रमोद विश्वकर्मा, श्यामलाल पटेल, विपिन यादव, प्रदीप रजक आदि ने की है।