जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जबलपुर रेलवे स्टेशन में 29 जुलाई से मेगा ब्लाक लगने जा रहा है। इस दौरान रेलवे ने जबलपुर से रवाना होने वाली ट्रेनों से लेकर यहां से गुजरने वाली कई ट्रेनों को रद्द करने, रूट बदलने का निर्णय लिया है। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि जबलपुर से भोपाल जाने वाली जनशताब्दी ट्रेन को 27 अगस्त तक के लिए रद्द कर दिया गया है। वहीं कटनी-इटारसी पैसेंजर, कटनी-भुसावल पैसेंजर, इलाहाबाद-इटारसी पैसेंजर के साथ अंबिकापुर इंटरसिटी, नैनपुर पैसेंजर, संतरागाछी स्पेशल, मंडुआडीह स्पेशल और पुणे-पटना जनसाधारण ट्रेन को रद्द कर दिया है। इससे आने वाले एक माह तक यात्रियों की मुश्किलें बढ़ेंगी।

मंगलवार को जबलपुर रेल मंडल के डीआरएम मनोज सिंह ने प्रेसवार्ता कर बताया कि रेलवे बोर्ड ने उन्हें रिमॉडलिंग का काम करने की स्वीकृति दे दी है। 29 जुलाई से 27 अगस्त तक जबलपुर स्टेशन में यह काम होगा। इस दौरान यात्रियों को परेशानी न हो, इसका भी ध्यान रखा गया है।

मदनमहल से जाएगी ओवरनाइट एक्सप्रेस

जबलपुर की सबसे महत्वपूर्ण ट्रेन जबलपुर-इंदौर ओवरनाइट एक्सप्रेस को 29 जुलाई से 27 अगस्त तक जबलपुर की बजाए मदनमहल स्टेशन से रवाना किया जाएगा। इसके अलावा जबलपुर-भोपाल इंटरसिटी और जबलपुर-रीवा शटल भी यहां से रवाना होगी। वहीं अधारताल स्टेशन से दो ट्रेनों को रवाना किया जाएगा, जिसमें जबलपुर-रीवा इंटरसिटी और जबलपुर-सिंगरौली इंटरसिटी को रवाना किया जाएगा।

एक माह पहले ही तैयार की योजना

जबलपुर रेलवे स्टेशन की रिमॉडलिंग का काम 2018 जून में किया जाना था, लेकिन इसे आगे बढ़ाते-बढ़ाते 23 जून और फिर 1 जुलाई तक ले आया गया। अब अंतिम निर्णय 29 जुलाई लिया गया है। स्टेशन रिमॉडलिंग की तैयारी पिछले एक माह से चल रही है। जबलपुर मंडल के इंजीनियरिंग, कमर्शियल, ऑपरेटिंग, मैकेनिकल, सिग्नल और कम्युनिकेशन विभाग के 500 से ज्यादा कर्मचारी-अधिकारी यह काम करेंगे। इसके अलावा यात्रियों की परेशानी को कम करने के लिए जबलपुर को यातायात विभाग और नगर निगम भी मदद करेगा।

एक माह तक यह होगा काम

1. शुरुआत के 27 दिन इंटरलॉकिंग और अंतिम तीन दिन नॉन इंटरलॉकिंग का काम होगा।

2. इंजीनियरिंग विभाग द्वारा 35 पॉइंट और तैयार किए जाएंगे साथ ही नए स्विफ्टर लगाए जाएंगे।

3 सिग्नलिंग विभाग द्वारा आरआरआई भवन के ऊपर एक नया 412 रूट का आरआरआई बनाएगा।

4. 2 किमी लंबे यार्ड की रिमॉडलिंग का काम होगा, जिसमें तकरीबन 10 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

5. ट्रेनों का परिचालन करने ट्रैक के पास 14 गुमटियां बनेंगी, जिसमें कर्मचारी तैनात होंगे।

अधारताल स्टेशन में

मेगा ब्लॉक में अधारताल से जाने वाली ट्रेनों को प्लेटफार्म 1 से रवाना किया जाएगा और इसी प्लेटफार्म पर लिया जाएगा। यहां पर 24 घंटे टिकट काउंटर खुलेगा। प्लेटफार्म 1 के सर्कुलेशन एरिया में एटीवीएम मशीन भी लगाई जा रही है।

मदनमहल स्टेशन में

मदनमहल स्टेशन में 30 दिन तक टिकट विंडो 24 घंटे खोलने का निर्णय लिया है। हालांकि 60 महिला कर्मचारियों के भरोसे यात्री-ट्रेनें हैं, लेकिन अब स्टेशन में 14 अतिरिक्त स्टॉफ बढ़ाया जा रहा है। आरपीएफ से तकरीबन 8 जवान अतिरिक्त मांगें हैं।