जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

महिलाओं की शिकायतों पर उन्हें आश्वासन के बजाए सख्ती से कार्रवाई होनी चाहिए। पीड़ित महिला का अपनी समस्या को लेकर थाने आना बड़ा कदम होता है। पीड़ित महिला यदि थाने आती है, तो उसे आश्वासन नहीं मिलना चाहिए। बल्कि उसकी शिकायत पर जो भी उचित हो सके उसे तत्काल करें। इसी धारणा को लेकर चिन्हित किए गए शहर और ग्रामीण के थानों में ऊर्जा डेस्क का संचालन किया जा रहा है। बैठक रविवार को कंट्रोल रूम में आयोजित हुई। यह निर्देश बैठक में उपस्थित ऊर्जा डेस्क के अधिकारियों को एसपी अमित सिंह ने दिए। वहीं बैठक नोडल अधिकारी एएसपी दक्षिण डॉ. संजीव उइके की उपस्थित में ली गई। बैठक में डीएसपी पीके जैन, निरीक्षक प्रीति तिवारी के अलावा जिले के 16 थानों में संचालित ऊर्जा डेस्क के नोडल अधिकारी और टीआई उपस्थित रहे।