जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

पाटन एसडीएम अनुराग तिवारी की कोर्ट में वकीलों से हुआ विवाद पुराना है। इस मामले में पहले ही एसडीएम द्वारा कलेक्टर भरत यादव को पत्र भेजकर पूरी जानकारी दी गई थी। 14 अगस्त को एसडीएम श्री तिवारी ने पत्र के जरिए बताया कि न्यायालय की गरिमा को वकीलों ने धूमिल किया है। वहीं एक वीडियो भी इस विवाद का सामने आया है। जिसमें कई वकील एसडीएम के साथ बहस करते नजर आ रहे हैं। हालांकि यह विवाद अभी तक सुलझा नहीं है। क्योंकि दोनों ही पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप लगाए हैं।

यह है मामला

एसडीएम ने कलेक्टर को भेजे पत्र में बताया कि 14 अगस्त को अधिवक्ता एचएन पटेल द्वारा एक प्रकरण में दबाव बनाने का प्रयास किया गया था। इस प्रकरण में सात पेशी हो चुकी थी, लेकिन पक्षकार उसमें कभी नहीं प्रस्तुत हुए। वहीं बिना वकील की पैरवी के प्रकरण को निपटाने का दबाव बनाया गया। इसलिए प्रकरण में पक्षकार की गैर मौजूदगी के बिना दबाव बनाना न्यायालयीन प्रक्रिया के विपरीत था। इस घटना के फौरन बाद पाटन के अन्य अधिवक्ताओं ने भी आकर एसडीएम कोर्ट में विवाद किया था। इससे उलट काम न करने और प्रकरण में हीलाहवाली बरतने का आरोप वकील भी लगा चुके हैं।

वकीलों ने की एसडीएम हटाने की मांग

मप्र जूनियर्स लायर्स एसोसिएशन ने पाटन एसडीएम को हटाने और बर्खास्त करने की मांग की है। इस मामले में एसोसिएशन के प्रदेश संयोजक आशीष त्रिवेदी ने विभागीय जांच शुरू करने शासन स्तर पर पत्र लिखा है।