- स्वच्छता पार्क कठौंदा में नगर निगम 2 करोड़ की लागत से लगाएगा प्लांट

- 500 किलो क्षमता का लगेगा भस्मक

जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर में मृत पशुओं का अब निपटान भस्मक (इंसीनियरेटर) में जलाकर कर किया जाएगा। इससे न तो वातावरण में गंदगी फैलेगी न लोगों की सेहत को नुकसान होगा। दरअसल शहर में जिस तरह से जनसंख्या बढ़ रही है। उस हिसाब से लोगों के रहने के लिए जमीनें भी कम पड़ रही हैं। ऐसे में मृत पशुओं को गड़ाने के लिए भी नगर निगम के पास जमीन नहीं बची है। लिहाजा नगर निगम अब मृत पशुओं को दफन करने की बजाए जलाकर उनका निपटान करने की तैयारी में है। इसके लिए करीब 2 करोड़ की लागत से 500 किलो ग्राम क्षमता का भस्मक प्लांट यहां से 12 किमी दूर स्वच्छता पार्क कठौंदा में स्थापित किया जाएगा।

-----------

एलपीजी,सीएनजी या ऑयल से चलेगा

मृत पशुओं के निपटान के लिए एलपीजी,सीएनजी या ऑयल से चलने वाले भस्मक की स्थापना की जाएगी। नगर निगम ने कठौंदा में भस्मक लगाने के लिए टेंडर जारी कर दिया है। दावा किया जा रहा है एक महीने के भीतर भस्मक प्लांट लगा दिया जाएगा।

----------

अभी गड़ाए जाते हैं मृत पशु

- नगर निगम द्वारा मृत पशुओं को कठौंदा प्लांट के पीछे गड़ाकर निपटान किया जा रहा है।

- जानवर और पक्षी मृत पशुओं के क्षत-विक्षत शव को इधर-उधर फैला रहे हैं। जिससे गंदगी फैल रही है।

- मृत पशुओं को गड़ाने के लिए अब यहां जमीन भी कम पड़ने लगी है।

---------

पहले भी जारी हो चुका टेंडर

नगर निगम एक बार पहले भी भस्मक लगाने का टेंडर जारी कर चुका हैं लेकिन किसी भी ठेकेदार ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई और मृत पशुओं के निपटान का ठेका लेने कोई सामने नहीं आया। अब दूसरी बार फिर नगर निगम ने टेंडर जारी किए हैं।

-----------

ठेके से चलेगा

- 2 करोड़ से कठौंदा में लगाया जाएगा भस्मक।

- मृत पशुओं का भस्मक में निपटारन करने दिया जाएगा ठेका।

- भस्मक का संचालन व रखरखाव करेगी ठेका कंपनी।

----------

मृत पशुओं के निपटान के लिए कठौंदा में भस्मक प्लांट लगाया जा रहा है। टेंडर जारी कर दिया गया है। एक माह के भीतर प्लांट लगाने की तैयारी है।

-भूपेन्द्र सिंह, स्वास्थ्य अधिकारी नगर निगम