जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

फैमिली कोर्ट की प्रधान न्यायाधीश अनुराधा शुक्ला की अदालत ने गढ़ा जबलपुर निवासी निर्मला झारिया के हक में आदेश पारित किया। इसके तहत अनावेदक पति शिवकुमार मेहरा यूनियन बैंक, भोपाल में पदस्थ सहायक प्रबंधक के वेतन से प्रतिमाह भरण-पोषण राशि की कटौती की व्यवस्था दे दी गई। आवेदिका की ओर से अधिवक्ता कुंवरलाल सोनी ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि अदालत ने पूर्व में अनावेदक पति के वेतन से 12 हजार रुपए मासिक भरण-पोषण राशि की कटौती का आदेश पारित किया था। यही नहीं बकाया राशि 1 लाख 26 हजार 600 रुपए की वसूली के लिए गिरफ्तारी वारंट भी जारी किया था। आवेदिका ने नवंबर 2017 की जो वेतन पर्ची पेश की है, उसके अनुसार उसका तत्कालीन वेतन 55 हजार 761 रुपए था। इसी आधार पर भरण-पोषण राशि तय की गई। साथ ही जब तक बकाया रकम जमा नहीं कर दी जाती, 5000 रुपए की अतिरिक्त कटौती के लिए भी निर्देश जारी किया गया। अदालत ने पूरे मामले पर गौर करने के बाद भरण-पोषण की तय राशि भुगतान करने के निर्देश दिए। साथ ही वारंट के संबंध में सुनवाई की अगली तिथि 18 सितम्बर तय कर दी।