अमरावती एक्सप्रेस का मामला

जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

ट्रेन को समय पर रवाना करने के लिए रेलवे एक ओर जहां हरसंभव प्रयास कर रहा है, वहीं दूसरी ओर जबलपुर मंडल का स्टॉफ ट्रेनों को लेट करा रहा है। जबलपुर से अमरावती जाने वाली अमरावती एक्सप्रेस रविवार को यार्ड से लेट पहुंचने के बाद जैसे ही स्टेशन से रवाना हुई चेन पुलिंग कर इसे रोक दिया गया। वजह एसी कोच में बेडरोल न चढ़ पाना था।

दरअसल, अमरावती एक्सप्रेस को यार्ड से जबलपुर स्टेशन के प्लेटफार्म पर 8.37 मिनट पर लाया गया। ट्रेन 8.50 पर रवाना हुई थी, लेकिन जैसे ही ट्रेन ने प्लेटफार्म छोड़ने के लिए रफ्तार पकड़ी, बेडरोल चढ़ाने वाले स्टॉफ ने ट्रेन की चेन पुलिंग कर दी, जिससे ट्रेन के पहिए थम गए।

सुस्त मेंटेनेंस, ट्रेनें लेट

जानकारी के मुताबिक अमरावती की चेन पुलिंग मामले में रेलवे ने बेडरोल चढ़ाने वाले को दोषी पाया है, हालांकि ट्रेन को यार्ड से स्टेशन तक लाने में हुई देरी भी एक वजह मानी जा रही है। इन दिनों यार्ड में ट्रेनों के मेंटेनेंस में अधिक समय लग रहा है। निजी कर्मचारियों की सुस्त काम और रेल कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से ट्रेनें यार्ड से अपने निर्धारित समय से लेट पहुंच रही हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network