जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। Jabalpur News : एटीएम से पैसे निकालने में मदद करने के बहाने एक युवक ने आयुध निर्माणी खमरिया (ओएफके) में कार्यरत कर्मी को 40 हजार रुपए का चूना लगा दिया। युवक ने फैक्ट्री कर्मी के एटीएम पर अंकित नंबर व पासवर्ड की मोबाइल पर फोटो खींच ली। जिसके बाद गोसलपुर स्थित एटीएम से उसके खाते से दूसरे खाते में ऑनलाइन 20 हजार रुपए ट्रांसफर किए। कुछ देर बाद वहीं स्थित एक अन्य एटीएम पहुंचकर उसके खाते से 20 हजार रुपए और निकाल लिए। प्रकरण दर्ज कर अधारताल पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है।

यह है मामला

अधारताल टीआई योगेश तोमर ने बताया कि जयप्रकाश नगर निवासी अशोक कुमार दाहिया (52) 24 जून की सुबह ओएफके जा रहे थे। अधारताल-बिरसामुंडा मार्ग स्थित एक एटीएम से पैसे निकालने के लिए वे रुके। उस समय एटीएम के भीतर दो लड़के पहले से मौजूद थे तथा उनके दो साथी बाहर कार में बैठे थे। चश्मा न होने की वजह से वे एटीएम को ठीक से ऑपरेट नहीं कर पा रहे थे, तभी एक युवक ने एटीएम ऑपरेट कर रकम निकालने में उनकी मदद की और इसी बीच एटीएम की फोटो खींचकर पासवर्ड भी देख लिया। फैक्ट्री कर्मी रकम निकालने के बाद फैक्ट्री चले गए। कुछ घंटे बाद अशोक के बैंक अकाउंट से 40 हजार रुपए निकल गए।

पासबुक एंट्री में सामने आई जानकारी

बैंक खाते से 40 हजार रुपए निकल जाने की जानकारी अशोक को पासबुक में एंट्री के बाद हो पाई। बैंक में उन्हें जानकारी दी गई कि गोसलपुर चौराहा बेलापुर तथा वहीं स्थित एक अन्य एटीएम से दो बार में 40 हजार रुपए निकाले गए। एक बार में 20 हजार की नेट बैंकिंग की गई तथा दूसरी बार कैश निकाले गए।

छतरपुर स्थित बैंक में है खाता

पुलिस की जांच में यह बात सामने आई कि फैक्ट्री कर्मी के बैंक खाते से छलपूर्वक रकम निकालने वाला देवेन्द्र विश्वकर्मा पिता मानिकचंद नूना वार्ड मलेहरा जिला छतरपुर का निवासी है। मलेहरा गाहरी स्थित बैंक में उसके नाम का अकाउंट है। उसी खाते में नेट बैंकिंग से 20 हजार रुपए ट्रांसफर किए गए थे। ट्रांसफर की गई रकम को भी खाते से निकाला जा चुका है। आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network