जबलपुर। शादी का झांसा देकर वर्षों तक एक युवती का शारीरिक शोषण करने के मामले में दुष्कर्म के आरोपित भाजपा नेता उपेन्द्र धाकड़ निवासी विदिशा ने मंगलवार को अजाक थाने में आत्मसमर्पण कर दिया। धाकड़ के खिलाफ महिला थाना पुलिस ने 29 मई को एफआईआर दर्ज की थी।

वह तभी से फरार चल रहा था। उसकी गिरफ्तारी पर पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने 10 हजार का इनाम घोषित किया था। महिला थाने में प्रकरण दर्ज होने के बाद अजाक थाने में केस डायरी स्थानांतरित कर दी गई थी। प्रकरण में 182-183 के तहत कुर्की की कवायद चल रही थी।

भाजपा नेता के 'करीबी' के साथ विदिशा से आया

सूत्रों ने बताया कि भाजपा के एक नेता ने अपने करीबी को विदिशा भेजा था। जो कि वहां दो दिन से डेरा डाले था। इधर, पुलिस को भी सूचना दे दी गई थी कि उपेन्द्र धाकड़ को एक-दो दिन में पेश कर दिया जाएगा। मंगलवार को नेता का करीबी उपेन्द्र को लेकर पुलिस थाना पहुंचा।

यह है मामला

रांझी थाना क्षेत्र निवासी युवती वर्तमान में योग शिक्षिका ने एफआईआर दर्ज कराई थी कि एक विश्वविद्यालय में अध्ययन के दौरान 2013 में उपेन्द्र धाकड़ से पहचान हुई थी। उपेन्द्र भी वहां अध्ययनरत था। शादी का झांसा देकर उपेन्द्र ने शारीरिक संबंध बनाए और 2018 तक उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। वह जब भी शादी की बात करती आश्वासन देकर चुप करा देता। इसके बाद 2019 में उपेन्द्र ने विदिशा में दूसरी शादी कर ली।

भरोसे में लेने के लिए पहनाई थी अंगूठी

पीड़िता के मुताबिक उपेन्द्र ने उसे भरोसे में लेने के लिए अंगूठी पहनाकर सगाई की थी। बार-बार आश्वासन देता था कि जल्द शादी करेगा। झांसे में रखते हुए वह जबलपुर स्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद व भाजपा कार्यालय समेत अन्यत्र शारीरिक संबंध बनाता रहा। उपेन्द्र की शादी तय होने की जानकारी मिली तो उसने संपर्क किया। उपेन्द्र ने जवाब दिया कि अभी शादी कर लेने दो, 6 माह बात तलाक लेकर दूसरी शादी कर लूंगा।

इनका कहना है

दुष्कर्म के आरोपित उपेन्द्र धाकड़ को गिरफ्तार कर न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया गया है। एक युवती ने तीन माह पूर्व उसके विस्र्द्ध दुष्कर्म की एफआईआर दर्ज कराई थी।

सुरेखा परमार, डीएसपी अजाक थाना