जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। बिजली कंपनी द्वारा की जा रही उपेक्षा और भेदभाव से नाराज होकर अधिकारी, कर्मच‍ारियों और इंजीनियरों ने शक्तिभवन बैरियर गेट के सामने कैंडल मार्च निकाला। इंजीनियर एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि हम अलग-अलग तरह से विरोध कर अपनी बात प्रबंधन के सामने रखने का प्रयास करेंगे। एसोसिएशन के पदाधिकारी 19 जनवरी से लगातार अपनी मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन करते आ रहे हैं। उनके अनुसार आने वाले दिनों में भी बिजली कंपनी उनकी मांगों पर अमल नहीं करती है तो विरोध को और अधिक प्रभावी बनाने कार्य का बहिष्कार किया जाएगा।

कंपनी प्रबंधन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा : पदाधिकारियों ने कहा कि वर्ष 2006 एवं उसके बाद नियुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ भेदभाव किया जा रहा है जिसके चलते 19 जनवरी से लगातार आंदोलन किया जा रहा है। इसके बाद भी शासन एवं कंपनी प्रबंधन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। संगठन के प्रदेश महासचिव अजय कुमार मिश्रा, नितिन सेन, सुशील पॉल ने कहा कि उच्‍च शिक्षा लेने के बावजूद तकनीकी कर्मियों को उधा पदों पर जवाबदेही नहीं दी जा रही है। इसके अलावा पदोन्नति हेतु सीटें सुरक्षित करने, कंपनी कैडर का हक छीने जाने, फ्रिन्ज बेनेफिट्स, नाइट शिफ्ट, रिस्क अलाउंस, कन्वेंस अलाउंस वर्षों से पुनरीक्षित न किए जाने जैसी समस्याओं को लेकर लंबे समय से इंजीनियर परेशान हैं। वे इस मामले में प्रबंधन से लगातार पत्राचार भी करते आ रहे हैं। इस संबंध में पदाधिकारियों ने साफ किया है कि मांगें जब तक नहीं सुनी जाएगी आंदोलन जारी रहेगा। एक दिवसीय कार्य का बहिष्कार इसके बाद अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार किया जाएगा। प्रदर्शन के दौरान पुष्पेन्द्र पटेल, मनीष दाहिया, अरविंद कुमार आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags