जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ईपीएफओ का नामीनेशन के बड़े स्तर पर व्यापक अभियान शुरू किया गया है। जबलपुर ईपीएफओ के सदस्यों के ई नामीनेशन के लिए विभाग ने व्यापक अभियान चलाया है। जबलपुर कार्यालय में अभी तक सवा पांच फीसदी कामगारों ने ही अपना ई नामिनेशन करवाया है। मप्र एवं छग के भविष्य निधि आयुक्त अजय मेहरा के निर्देश पर विभाग के अधिकारी संस्थानों का दौरा कर रहे हैं। क्षेत्रीय कार्यालय जबलपर के क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त राकेश सहरावत ने बताया कि जबलपुर कार्यालय के तहत दो लाख 11 हजार 482 अंशदाताओं में से मात्र 11 हजार 024 अंशदाताओं ने ही अपना ई नामिनेशन किया है।

मृत्यु प्रकरणों के निपटान में परेशानी होती है : ई नामिनेशन नहीं होने से अंशदाताओं के पेंशन एवं मृत्यु प्रकरणों के निपटान में परेशानी होती है। विभाग ने सभी नियोक्ताओं को सभी संवाद माध्यमों से उनके कर्मचारियों के शत प्रतिशत नामिनेशन के निर्देश दिए हैं। इसके साथ पी एफ कमिश्नर सहित विभाग के आला अधिकारी वेबिनार के माध्यम से नियोक्ताओं की बैठक ले रहे हैं। कार्यालय के सभी अधिकारियों को फील्ड पर संस्थानों से संपर्क करने को निर्देशित किया है। श्री सहरावत ने बताया कि सभी कर्मचारियों के लिए ई नामिनेशन करवाना अनिवार्य होता है और यह नियोक्ता की कि जिम्मेदारी होती है। कर्मचारी के न रहने पर उनके आश्रितों को पीएफ पेंशन देयकों के भुगतान के लिए परेशान न होना पड़े। कोविड काल में अनेक मृत कर्मचारियों के आश्रितों को इसी कारण परेशानियों से जुझना पड़ा था। इस समस्या के समाधान के लिए जरूरी है कि कर्मचारियों के लिए ई नामिनेशन करवाएं ताकि उन्हें भविष्य में पेंशन को लेकर किसी तरह की परेशानी ना आए।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local